" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: फ्रांस के एलिक्स ने ओम में देखा ब्रह्मांड का रहस्य

Aug 28, 2013

फ्रांस के एलिक्स ने ओम में देखा ब्रह्मांड का रहस्य


कहते हैं ज्ञान एक जगह समाहित नहीं किया जा सकता और ना ही इसकी कोई सीमाएं ही हैं, जिसमें ज्ञान को जकड कर बांध लिया जाए।
अगर भारतीयों में विदेश जाने, वहां की संस्कृति में रमने और विदेशी भाषाओं के प्रति जुनून बढ़ रहा है, तो विदेशी भी भारतीय संस्कृति से खुद को आकर्षित होने से नहीं बचा पा रहे हैं। 
संस्कृत सीखने में विदेशियों की रुचि
ऋषिकेश आने वाले विदेशी जिज्ञासुओं एवं साधकों में भारतीय सांस्कृतिक परंपराओं को जानने, संस्कृत भाषा को सीखने और धर्मग्रंथों का संदेश प्राप्त करने का जुनून झलकता है।

तीर्थनगरी में आए दो विदेशी पर्यटक इन दिनों संस्कृत भाषा और भारतीय सांस्कृतिक परम्पराओं को जानने के लिए आश्रमों की खाक छान रहे हैं।

वह यहां की समृद्ध संस्कृति के न सिर्फ कायल हैं बल्कि उसे करीब से जानने, समझने और अपनाने के लिए प्रयासरत भी दिखते हैं।

बेल्जियम से पहुंचा भारत
बेल्जियम के मारकुस का कहना है कि भारतीय संस्कृति ने मुझे काफी प्रभावित किया। संस्कृत भाषा को सीखने के लिए मैं यहां पर कई आश्रमों में गया।

जहां मुझे महाभारत और भगवद् गीता के बारे में जानकारी मिली। इसके अलावा मैंने वहां जाना कि भारतीय लोग गंगा को इतना पवित्र क्यों मानते हैं। लोग गंगा में डुबकी लगाते हैं। इसका एहसास मुझे तीर्थनगरी आकर और गंगा में स्नान के बाद हुआ।

ओम का महत्व
उनके साथ आए फ्रांस के एलिक्स का कहना है कि मैंने जाना कि ओम शब्द में संपूर्ण ब्रह्मांड का रहस्य छिपा हुआ है। यही आदि और अंत माना गया है। इसके उच्चारण के बिना भारतीय संस्कृति में कोई भी पूजा-पाठ नहीं होता।

No comments :

Post a Comment

international travel insurance in india, travel insurance india to usa, travel insurance from india, payday loans uk, dtravel insurance in india, international travel insurance in india