" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: December 2013

Dec 29, 2013

दक्षिण कोरिया की लैब से 40 कम्प्यूटर चोरी रोहतक / ब्यूरो

हरियाणा के जिला रोहतक के सांपला थानांतर्गत गांव गढ़ी सांपला स्थित दक्षिण कोरियाई कंप्यूटर लैब का ताला तोड़कर चोर चालीस कंप्यूटर और अन्य सामान चोरी कर ले गए। इनमें से 17 कंप्यूटर दक्षिण कोरियाई कंपनी ने लगाए थे, जबकि बाकी के कंप्यूटर हरियाणा सरकार ने लगाए गए थे। पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल कर्मबीर के बयान पर शिकायत दर्ज कर ली है। डॉग स्क्वॉयड और फिंगर प्रिंट विशेषज्ञ ने मौके का निरीक्षण किया। दक्षिण कोरिया ने गांव गढ़ी सांपला को विकास के लिए गोद ले रखा है। कोरिया के एक प्रतिनिधिमंडल ने गांव में डेरा डाल रखा है। पुलिस के अनुसार बीती रात चोर गांव गढ़ी सांपला स्थित राजकीय हाई स्कूल में दक्षिण कोरिया द्वारा बनाई गई कम्प्यूटर लैब का ताला तोड़कर 40 कंप्यूटर, दो प्रोजेक्टर और अन्य सामान चोरी कर ले गए। घटना का पता शनिवार सुबह उस वक्त लगा जब चौकीदार स्कूल पहुंचा तो उसने देखा कि लैब का ताला टूटा हुआ है। चौकीदार ने इसकी सूचना प्रिंसिपल कर्मबीर और गांव के सरपंच को दी। पुलिस ने इस बारे में दक्षिण कोरिया के प्रतिनिधिमंडल को अवगत करा दिया है।

युवक का अपहरण कर पांच हजार छीने

हरियाणा के जिला रोहतक शहर थानांतर्गत जींद रोड से कार सवार तीन बदमाश चौक पर खडे़ एक युवक को अगवा कर ले गए। बदमाशों ने युवक से मारपीट कर पांच हजार रुपये छीन लिए। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण और लूटपाट का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार बीती रात लाखनमाजरा निवासी राजेश गांव जाने के लिए जींद रोड पर किसी वाहन के इंतजार में खड़ा हुआ था। इसी दौरान सैंट्रो कार नंबर एचआर-11ई-2075 में तीन बदमाश आए और उसे अगवा कर ले गए। उन्होंने राजेश से मारपीट कर नकदी छीनने के बाद काफी दूर ले जाकर उसे सड़क के किनारे फेंक दिया। घटना के बाद राजेश किसी तरह शहर थाना पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने लुटेरों की तलाश के लिए क्षेत्र की नाकेबंदी भी की, परंतु लुटेरों के बारे में कोई सुराग नहीं मिला।

Dec 27, 2013

नौकरी के बहाने विदेश से बुलाकर कराती थीं वेश्यावृत्ति

उजबेकिस्तान की दो महिलाएं युवतियों को भारत में नौकरी दिलाने के बहाने बुलाकर उनसे जिस्मफरोशी करवा रही थीं। ग्रेटर कैलाश-एक (जीके) थाना पुलिस ने दोनों महिलाओं को बृहस्पतिवार को एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया। इन पर उजबेकिस्तान की दो युवतियों से जिस्मफरोशी कराने, मारपीट और बंधक बनाने का आरोप है। दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, उजबेकिस्तान की शाहनुजा (28) और नजाकत (23) ग्रेटर कैलाश के डी-ब्लॉक में किराए का फ्लैट लेकर काफी समय से रह रही थीं। शाहनुजा का वीजा खत्म हो चुका है। आरोप है कि दोनों ने उजबेकिस्तान की दो लड़कियों को ई-मेल से दिल्ली बुलाया और 200 से 500 डॉलर में मार्केटिंग की जॉब दिलवाने का झांसा दिया। दोनों लड़कियों ने पासपोर्ट और वीजा न होने की मजबूरी बताई। इस पर आरोपी महिलाओं ने उन्हें बिना पासपोर्ट के नेपाल के रास्ते भारत में बुला लिया। आरोपी महिलाओं ने इन्हें साथ रखा और नौकरी तलाशने की बात कही। इसके बाद उन्हें जिस्मफरोशी कराने के लिए मजबूर किया जाने लगा। दोनों युवतियों ने जिस्मफरोशी के धंधे में जाने से मना कर दिया तो उनके साथ मारपीट की जाने लगीं। एक युवती को ग्राहक को पास भी भेजा गया। नौ दिसंबर को दोनों युवतियां फ्लैट से भागकर उजबेकिस्तान एंबेसी पहुंच गईं। एंबेसी के हस्तक्षेप के बाद ग्रेटर कैलाश थाना पुलिस ने 11 दिसंबर को आरोपी महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

पहले शुद्ध देसी स्मार्टफोन लॉन्च, कीमत 3,499 रुपए

टैबलेट निर्माता कंपनी सिमट्रॉनिकस (Simmtronics) ने भारतीय बाजार में अपने स्मार्टफोन का आगाज कर दिया है। कंपनी ने एक्सपैड एमजॉयड एम 1, फनड्रॉयड क्यू1, क्यू2, क्यू4 और क्यू5 नाम से स्मार्टफोन लॉन्च किए हैं| इनकी खास बात यह है कि ये पहले ऐसे स्मार्टफोन होंगे जो की पूरी तरह से भारत में बने होंगे और मेड इन इंडिया कहलाएंगे। इन स्मार्टफोंस की कीमत लगभग 3,499 रुपए से लेकर 8,999 रुपए के बीच होगी। इससे पहले सभी भारतीय स्मार्टफोन कंपनियां चीन से स्मार्टफोन बनवाती थी| चाइना का सबसे चर्चित फोन, दाम में नहीं किसी से कम सिमट्रॉनिकस पहले ही इस बात की घोषणा कर चुकी है कि उसके द्वारा बनाए गए स्मार्टफोन भारत में ही बनाए जाएंगे ताकि भारतीय उपभोक्ताओं की आवश्यकतानुसार उन्हें सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। इसके लिए सिमट्रॉनिकस ने भिवाड़ी, रूड़की और ग्रेटर नोएडा में अपने प्लांट बनाए हैं। जिसमें कंपनी ने 200 करोड़ रुपए का निवेश किया है। डुअल सिम, एंड्रॉयड, 3.2 पिक्सल कैमरा और कीमत भी किफायती एंड्रॉयड जेलीबीन पर आधारित एक्सपैड एमजॉयड एम1 में 2जी और 3जी सपोर्ट के साथ 1.2 गीगाहर्ट्ज डुअलकोर प्रोसेसर का उपयोग किया गया है। इसकी स्क्रीन 4.7 इंच है और 5.0 मैगापिक्सल रियर कैमरा और 2.0 मैगापिक्सल फ्रंट कैमरे के साथ ही 4जीबी इंटरनल मैमोरी, 512 एमबी डीडीआर 3 है। 4.2.1 जेलीबीन (Jellybean) पर आधारित इस फोन में 1800 एमएएच बैटरी है। एक्सपैड फनड्रॉयड क्यू 1 (Xpad Fundroid Q1) में 3.5 इंच की एलसीडी रेटिना डिसप्ले है और 1.0 गीगाहर्ट्ज प्रोसेसर पर आधारित इस फोन में 2.0 मैगापिक्सल रियर कैमरा तथा वीजीए सेकेंड्री कैमरा है और 512 एमबी डीडीआर3 रैम और 4जीबी इंटरनल मैमोरी उपलब्ध है। यह फोन पुराने एंड्रॉयड 2.3 जिंजरब्रेड पर आधारित है लेकिन इसमें 1400 एमएएच बैटरी के साथ डुअल सिम की भी सुविधा है। एक्सपैड फनरॉयड क्यू2 में 480x800 रेजल्यूशन (Resolution) के साथ 4.0 इंच का डिस्‍प्ले है। यह स्मार्टफोन 1.0 गीगाहर्ट्ज प्रोसेसर पर कार्य करता है और इसमें 512 एमबी रैम की सुविधा है| 1,399 रुपए का मोबाइल और 1200 मिनट का टॉकटाइम फ्री साथ ही एंड्रॉयड आइसक्रीम सैंडविच (Ice Cream Sandwich) ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित इस फोन में 1400 एमएएच बैटरी का उपयोग किया गया है। साथ ही ब्लूटूथ और वाई-फाई का ऑप्शन भी उपलब्ध है। वहीं फनड्रॉयड क्यू4 में एचवीजीए के साथ 3.5 इंच की डिस्‍प्ले स्क्रीन है और यह भी एंड्रॉयड 4.0 आइसक्रीम सैंडविंच पर कार्य करता है। 256 एमबी रैम और मैमोरी कार्ड स्लॉट की सुविधा के साथ यह फोन 1 गीगाहर्ट्ज प्रोसेसर पर आधारित है। डुअल सिम सपोर्ट इस फोन में 1200 एमएएच बैटरी दी गई है। इसी तरह क्यू 5 में 4.0 इंच की एलसीडी टच स्क्रीन है और यह भी अन्य क्यू2 और क्यू4 की तरह एंडरॉयड 4.0 आइसक्रीम सैंडविच पर आधारित है। इसमें डीडीआर 3 के साथ 512 एमबी रैम, 5.0 मैगापिक्सल कैमरा, डुअल सिम और 1400 एमएएच बैटरी भी है।

नए साल पर हुड़दंगियों पर कसेंगे नकेल

रोहतक। नववर्ष पर हुड़दंगियों से निपटने के लिए रेंज पुलिस द्वारा खासा इंतजाम किया है। रोहतक, सोनीपत, पानीपत व झज्जर में जगह-जगह नाकेबंदी की जाएगी। इसके लिए चारों जिलों पर अतिरिक्त पुलिस बल के करीब आठ सौ जवानों की तैनाती के आदेश दिए गए हैं। आईजी अनिल राव ने वीरवार को पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी किए हैं कि शहर के सभी रेस्तरां व होटल के बाहर अतिरिक्त पुलिस बल लगाया जाए। शराब पीकर हुड़दंग करने वालों और बाइकरों को काबू करना पुलिस की पहली प्राथमिकता होगी। इसके लिए प्रत्येक थाने में अलग से टीमें बनाने को कहा गया है। जिस क्षेत्र में हुड़दंगबाजी या बवाल हुआ तो संबंधित थाना प्रभारी इसके लिए जवाबदेह होंगे।

नकदी समेत तीन लाख के जेवर चोरी

रोहतक। रैनकपुरा स्थित अजीत सिंह के मकान से चोर ताला तोड़कर पांच हजार रुपये की नकदी समेत तीन लाख रुपये से अधिक के जेवरात व अन्य सामान चोरी कर ले गए। सूचना मिलने पर शहर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है

केजरीवाल के लिए मुस्लिम युवक ने काटी हाथ की नस!

आप' कार्यालय में अरविंद केजरीवाल के जनता दरबार में अरविंद के लिए खून बहा देने की कसम खाते हुए एक युवक ने ब्लेड से हाथ की नस काट ली। शुक्रवार को दिल्ली निवासी जमील अहमद जनता दरबार में आए और शिकायतकर्ताओं की सूची में अपना नाम दर्ज कराया। जमील की बारी आने पर उसने केजरीवाल से कहा कि वह उनके लिए खून भी बहा सकता है। इतने ने उसने ब्लेड निकाला और अपने बाएं हाथ पर कलाई से कुछ इंच ऊपर दो बार वार किया। खून बहने लगा और जनता दरबार में अफतराफरी मच गई। लोगों को शांत कराया गया और केजरीवाल ने 'आप' कार्यकर्ताओं से उसे अस्पताल ले जाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि हमें इस तरह खून नहीं चाहिए। हमें साथ मिलकर परिवर्तन लाना है। इसके बाद जनता दरबार स्थगित कर दिया गया और केजरीवाल कौशांबी स्थित गिरनार अपार्टमेंट के लिए रवाना हो गए। जमील को कौशांबी अस्पताल ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे जाने दिया गया। डॉक्टरों के मुताबिक जख्म हाथ की नस से ऊपर लगे थे, अगर नीचे वार किया जाता तो जमील की जान को खतरा बढ़ सकता था।

Dec 25, 2013

घोषित हुई ऋतिक की दूसरी शादी की तारीख

ऋतिक-सुजैन के तलाक के बाद एक बड़ी खबर आई है। ऋतिक रोशन की दूसरी शादी की तारीख घोषित हो गई है। इन दिनों चारों ओर ऋतिक रोशन की चर्चा पत्नी से अलग होने के कारण हो रही है। लेकिन सवाल यह भी उठ रहा है कि जवां ऋतिक आगे की जिंदगी कैसे बिताएंगे? उनकी उम्र अभी मात्र 39 साल की है। ऋतिक का नाम समय-समय पर करीना कपूर और बारबरा मोरी जैसी हीरोइनों से जुड़ा है लेकिन फिलहाल वह पूरी तरह सिंगल हैं। ऐसे में भविष्य में उनकी हमसफर कौन होगी यह तो कोई नहीं बता सकता, परंतु जाने-माने ज्योतिषि बेजन दारुवाला का कहना है कि ऋतिक की जिंदगी में आगे जाकर टर्निंग पॉइंट आएगा और 2015 में वह संभवतः दूसरी शादी कर सकते हैं। हालांकि अभी ऋतिक पत्नी सुजैन से केवल अलग रह रहे हैं और दोनों का विधिवत तलाक नहीं हुआ है। उधर, सुजैन के पिता संजय खान कह चुके हैं कि वे चाहते हैं ऋतिक-सुजैन फिर से एक छत के नीचे आ जाएं। अब देखना रोचक होगा कि दोनों की जिंदगी आगे क्या मोड़ लेती है। ऋतिक फिलहाल मुंबई में हैं और कुछ विज्ञापनों की शूटिंग में व्यस्त हैं। बताया जा रहा है कि वह अपने बच्चों के साथ घर पर नया साल मनाना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार अगर सुजैन की बच्चों को लेकर नए साल पर कोई अलग प्लानिंग नहीं हुई तो ऋतिक की इच्छा पूरी हो सकती है। आजकल ऋतिक घर में अकेले हैं क्योंकि उनके माता-पिता पिंकी और राकेश रोशन छुट्टियां बिताने लंदन गए हैं। दारुवाला ने मीडिया में नए साल की दस्तक के बीच कुछ और फिल्मी सितारों की जिंदगी पर भी बात की है। इस सेलेब्रिटी भविष्यवक्ता के अनुसार प्रियंका चोपड़ा के आने वाले दिन कैरियर के हिसाब से तो बहुत अच्छे हैं, लेकिन संभव है कि उनकी निजी जिंदगी में कुछ उठा-पटक देखने को मिले। तो क्या यह स भव है कि प्रियंका की जिंदगी में कोई आने वाला है? लंबे समय से वह अकेली हैं और आखिरी बार उनका नाम शाहिद कपूर से जुड़ा था। दारुवाला का कहना है फिल्मी फैन्स को 2014 में खास तौर पर तीन सितारों पर नजर रखनी चाहिए, जो लगातार उनका मनोरंजन करेंगे। बेजन के अनुसार अगला साल रणबीर कपूर का होगा। अगला ही नहीं, वह मानते हैं कि आने वाले पांच सालों में रणबीर लगातार नई ऊंचाइयां छूते जाएंगे और खूब तरक्की करेंगे। वहीं हीरोइनों में सबसे लकी साबित होंगी दीपिका पादुकोण। बेजन कहते हैं कि इस लड़की में दम है। उल्लेखनीय है कि 2013 भी दीपिका के लिए बहुत शानदार साबित हुआ है और उन्होंने एक के बाद एक पांच हिट फिल्में दी हैं। बेजन की मानें तो इन नए सितारों के बीच एक ऐसा सदाबहार सितारा भी है, जिस पर उम्र का कोई असर नहीं दिख रहा है। बेजन के अनुसार अगले साल सलमान एक बार फिर धमाका करेंगे और दर्शकों के दिलों पर उनका राज बरकरार रहेगा।

Dec 23, 2013

शराब के चक्कर में अमेरिकी जनरल बर्खास्त

एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी वायुसेना की लंबी दूरी वाली परमाणु मिसाइलों के प्रभारी जनरल को इसलिए हटा दिया गया है क्योंकि जुलाई में जब वो रूस के सरकारी दौरे पर गए तो उनका व्यवहार 'सज्जन व्यक्ति की तरह' नहीं था। हाल ही में एक गोपनीय दस्तावेज़ से पता चला है कि मेजर जनरल माइकल कारे ने अपने रूसी दौरे में बहुत ज़्यादा शराब पी और वो कुछ संदिग्ध विदेशी महिलाओं से मिले। रिपोर्ट के अनुसार कारे को या तो उस घटना के बारे में ज़्यादा कुछ याद नहीं है या फिर वो झूठ बोल रहे हैं। जनरल कारे की बर्ख़ास्तगी से पहले अमेरिकी नौसेना में परमाणु बल की निगरानी करने वाले एक एडमिरल को ग़ैरकानूनी रूप से जुआ खेलने के मामले में हटाया गया। हाल के महीनों में अमेरिकी सेना के परमाणु प्रतिष्ठान से जुड़े कई विवाद सामने आए हैं। जनरल कारे अमेरिकी वायुसेना में दो स्टार वाले जनरल थे। वो अमेरिका में तीन सैन्य अड्डों पर साढ़े चार सौ अंतरमहाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइलों के रखरखाव की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। वो अब अब वायुसेना की अंतरिक्ष कमांड के कमांडर के विशेष सहायक हैं। नहीं की टिप्पणी जब अक्टूबर में कारे को हटाया गया तो कोई ब्यौरा नहीं दिया गया था। वायुसेना के इंस्पेक्टर जनरल की रिपोर्ट में कहा गया है, "मेजर जनरल कारे ने इतनी शराब पी कि इसका असर उनके व्यवहार पर पड़ने लगा।" इसके मुताबिक, "मेजर जनरल अनुचित और असामान्य व्यवहार करते पाए गए, जब वो कुछ विदेशी महिलाओं से मिले, जिन्हें उन्होंने खुद संदिग्ध बताया।" रिपोर्ट कहती है कि वो उनसे एक रेस्त्रां में मिले और उनके साथ उन्होंने डांस भी किया। मेजर जनरल कारे ने इस रिपोर्ट के बारे में कोई टिप्पणी नहीं की है। हटाए जाने से पहले कारे के अधीन 9,600 लोग काम कर रहे थे और वो इराक में भी तैनात रह चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार कारे रूसी दौरे में न सिर्फ अपने मेज़बानों के साथ बदतमीज़ी से बात करते हुए पाए गए बल्कि उन्होंने अपने साथ गए अमेरिकी अफ़सरों से भी ठीक से बात नहीं की।

She is 92 years old, but chooses to work than beg

She is 92 years old, but chooses to work than beg

आसाराम बापू पर बनेगी फिल्म

आसाराम बापू के जीवन पर पीवीआरसी मीडिया एंड इंटरटेनमेंट और दबंग म्यूजिक कंपनी फिल्म का निर्माण करने जा रही है। फिल्म का नाम होगा रंगील्वा बापू। इसमें वेद प्रकाश भारतीय मुख्य भूमिका निभाएंगे। � पीवीआरसी मीडिया एंड इंटरटेनमेंट के निदेशक वेद प्रकाश भरतीय ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर दबंग म्यूजिक कंपनी ने आसाराम बापू का एक गाना तैयार किया है। इसमें वेदप्रकाश भारतीय ने आसाराम बापू की भूमिका निभाई है। इस गीत को मनोज भारती ने लिखा है। इस गीत के ऑडियो को भोजपुरी रेडियो पर काफी पसंद किया जा रहा है। इसकी सफलता पर ही आसाराम बापू पर फिल्म बनाने का निर्णय लिया गया है।

Dec 22, 2013

देवयानी को कॉफी तक पिलाई गई थी'

अमेरिका में भारत की राजनयिक देवयानी खोबरागड़े की गिरफ़्तारी और कथित तौर पर उनके साथ गलत व्यवहार किए जाने के आरोपों को खारिज़ करते हुए सरकारी वकील प्रीत बरारा ने कहा है कि इस मामले की रिपोर्टिंग ठीक तरीके से नहीं की जा रही है। सरकारी वकील ने कहा कि देवयानी को उनको बच्चों के सामने गिरफ़्तार नहीं किया गया जैसा कि मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है। उन्हें विदेश विभाग के एजेंटों ने गिरफ़्तार किया जो अभियोजन पक्ष का अभियोग कार्यालय है और वह मामले से बेहतर तरीके से निपटने में सक्षम हैं। देवयानीः अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, हां गलती हुई भारत सरकार ने देवयानी के साथ कथित गलत व्यवहार किए जाने का आरोप लगाते हुए इसे एक निंदनीय घटना करार दिया है। देवयानी पर उनके घरेलू नौकर का शोषण करने, अधिक घंटों तक काम करवाकर कम भुगतान करने और घरेलू नौकर को अमेरिकी वीज़ा दिलाने के लिए झूठे तथ्य देने के आरोप लगे हैं। कयास गलत उन्होंने यह भी कहा कि पीड़ित परिवार को अमेरिका लाने को लेकर लगाए जा रहे कयास गलत हैं। न्याय विभाग में जब तक यह मामला लंबित है तब तक पीड़ित, गवाहों और उनके परिवारों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कयास लगाने के बजाय पीड़ित परिवार को यहां लाने के कारणों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसी सूचना मिली थी कि पीड़ित को चुप कराने और उसे भारत लौटने पर बाध्य करने के लिए उसके खिलाफ भारत में कानूनी कार्यवाही शुरू की गई है। बरार ने एक बयान में कहा कि एजेंटों ने उन्हें जितना संभव था उतने शालीन तरीके से गिरफ़्तार किया। अधिकतर प्रतिवादियों की तरह उन्हें हथकड़ी नहीं पहनाई गई। फोन जब्त नहीं सच्चाई यह है कि गिरफ़्तार करने वाले अधिकारियों ने उनका फोन तक ज़ब्त नहीं किया जैसा कि वे सामान्य तौर पर करते हैं। बल्कि उन्होंने देवयानी को उनके निजी मसलों के बारे में कई कॉल करने और जब भी ज़रूरत पड़ी तब संपर्क कराने की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि यहां तक की बच्चों की देखभाल करने की व्यवस्था करने में भी देवयानी की सहायता की गई। ऐसा करीब दो घंटे तक चला। बाहर बहुत अधिक सर्दी होने के कारण एजेंटों ने अपनी कार से ये सारे कॉल करवाए। यहां तक कि उनको कॉफी पिलाई गई और उन्हें खाना खाने को कहा गया। कपड़े उतरवाकर देवयानी की जांच करने के आरोपों के बारे में उन्होंने बताया कि यह सही है कि जब उन्हें मार्शल की हिरासत में लिया गया तब एक एक महिला डिप्टी मार्शल ने उनकी पूरी जांच की। लेकिन, अमेरिका में हर प्रतिवादी के साथ ऐसा ही किया जाता है चाहे वो गरीब हो या अमीर। ऐसा यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि कैदी के पास कुछ ऐसा न हो जिससे कि वह दूसरों और खुद को नुकसान पहुंचा सके। यह हर किसी की सुरक्षा के हित में है। गलत सूचनाएं सरकारी वकील ने कहा कि देवयानी के खिलाफ लगे आरोपों की रिपोर्टिंग गलत तथ्यों और गलत सूचनाओं के आधार पर की जा रही है और इसे रोकने की जरूरत है क्योंकि इससे लोग भ्रमित हो रहे हैं और एक भड़काऊ स्थिति पैदा हो रही है। उन्होंने कहा कि देवयानी पर लगे आरोपों से जुड़े नियमों के बारे में स्पष्ट तौर पर विदेश विभाग की वेबसाइट पर ज़िक्र है। कोई भी यह दावा नहीं कर सकता कि देवयानी के साथ अन्याय किया जा रहा है। सरकारी वकील ने कहा कि वे तथ्यों के आधार इस मामले को देखते हैं। इस तरह के मामलों के आरोपी अमेरिकियों से अलग देवयानी के साथ बेहद सम्मानजनक तरीके से बर्ताव किया गया। उन्होंने कहा कि हर मामले की तरह इस मसले में भी उनका एक मात्र उद्देश्य यह है कि कानून का राज स्थापित हो।

Rs 20 free Recharge for everyone

We ARE GIVING RS 20 RECHARGE FOR EVERYONE, JUST CLICK THIS LINK AND SHARE OUR BLOG  http://www.blogger.com/share-post.g?blogID=5084677606988647179&target=facebook     THEN PLEASE SEND YOUR MOBILE NO AND OPERATOR NAME AT   S_TOMER@ROCKETMAIL.COM    OR SMS ON 8570005561

चोर की मदद से पकड़ा गया बच्चों के साथ यौन-उत्पीड़न करने वाला

क्या कभी किसी चोर से पुलिस की मदद करने की उम्मीद की जा सकती है? आप कहेंगे कि ये कैसा मजाक है लेकिन आपको बता दें कि स्पेन में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है। चिड़िया की नजरों से कुछ ऐसी दिखती है हमारी दुनिया स्पेन की पुलिस के अनुसार, जिस शख्स की मदद से वो यौन-शोषण करने वाले को पकड़ पाए हैं वो खुद भी एक चोर है। हुआ कुछ यूं कि इस चोर ने एक घर से ढेर सारी सीडी और कैसेट चुराए ‌थे। घर आकर जब उसने ये सीडी देखी तो उसके होश उड़ गए। 200 किलो के बॉयफ्रेंड ने किया पहली बार सेक्स, गर्लफ्रेंड बची सीडी में एक शख्स बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न करता नजर आ रहा था। चोर ने बुद्घिमानी दिखाते हुए इन सभी सीडी को एक लिफाफे में भरकर एक कार में डाल दिया। अज्ञात लिफाफा देखकर लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। जिसके बाद पुलिस वहां पहुंच गई। लिफाफा खोलने पर उसे उसमें से एक चि‌ट्ठी मिली, जिस पर उस घर का पता लिखा हुआ था जहां से सीडी चोरी हुई थी। नंगा चला रहा था गाड़ी, और कर रहा था शर्मनाक हरकत! चोर ने उस खत में सारी बात लिख डाली थी। जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उस शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन पुलिस उस चोर की भ्‍ी तलाश कर रही है जिसकी वजह से इस अश्लील हरकत का पर्दाफाश हो सका। उन्हें लगता है कि उस चोर के अंदर अब भी कहीं न कहीं अच्छाई जिंदा है।

कबूतर की नजरों से कुछ ऐसी दिखती है दुनिया

इन शहरों की तस्वीर आपने कई बार देखी होगी लेकिन क्या आप जानते हैं ये शहर किसी पक्षी की नजर से कैसे लगते हैं? फोटोग्राफर कैस्पर कोवाल्सकी और क्लॉस लीडोर्फ ने एरियल फोटोग्राफी के जरिए चिड़िया की आंखों से दिखने वाली दुनिया दिखाने की कोशिश की है। (www.boredpanda.com)

बैंक लूटने के बाद भी भिखारी ही रह गया वो, पर क्यों?

कहते हैं दाने-दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम। वैसा ही कुछ इस शख्स के साथ भी हुआ। जिसने जान और भविष्य को खतरे में डालकर बैंक तो लूटा, लेकिन बाहर निकलते ही किसी और ने उसे लूट लिया। हफपोस्ट की खबर के अनुसार, अमेरिका में टेक्सास पुलिस की खबर के अनुसार जैसे ही ये शख्स बैंक लूट कर निकला, किसी ने उसे ही लूट लिया। बिना सेक्स हुई प्रेगनेंट, दिया बच्चे को जन्म! लैरी पॉलोस ने एजुकेशनल इंप्लाइज क्रेडिट यूनियन में एक स्लिप डिपॉजिट की, जिस पर बम लिखा हुआ था। चिड़िया की नजरों से कुछ ऐसी दिखती है हमारी दुनिया स्लिप लेने वाले कर्मचारी को पहले तो यही लगा कि ये कोई मजाक है लेकिन कुछ ही देर बाद उसे ये अहसास हो गया कि वो बैंक लूटने की कोशिश कर रहा है। डर के मारे उसने उसे पांच हजार डॉलर दे दिए। हालांकि, वो सर्विलांस कैमरे में कैद तो हो गया था, लेकिन अभी उसके साथ बहुत कुछ होना बाकी था। साथ ही कुछ लोगों ने 911 पर फोन भी कर दिया था। वो सारे पैसे लेकर बैंक से बाहर निकल रहा था। फोन करने वालों ने ये भी बताया कि जैसे ही वो अपने अपार्टमेंट के लिए निकला, उसके पीछे दो शख्स भी गए हैं। मेंढ़कों की इतनी विचित्र प्रजाति आपने पहले नहीं देखी होगी शिकायत के तहत जब पुलिस पॉलोस के घर पहुंची तो उसने अब भी वही टी-शर्ट पहन रखी थी। लेकिन उसके सिर से खून बह रहा था। पॉलोस और उसके रूममेट ने बताया कि कुछ लोगों ने पॉलोस को लूट लिया है। उसके रूममेट ने ये भी बताया कि पॉलोस ने कुछ दिन पहले उसे बैंक लूटने की योजना के बारे में बताया था। पॉलोस पर लूट का मुकदमा दायर किया गया है। जबकि पॉलोस को लूटने वाला अभी तक नहीं पकड़ा गया है।

चेक बाउंस मामले में प्रीत‌‌ि ज‌िंटा पर जुर्माना

चेक बाउंस मामले में उपनगरीय अंधेरी की एक� मजिस्ट्रेट कोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा पर स्थगन की मांग के लिए 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। जिंटा के खिलाफ स्क्रिप्टराइटर अब्बास टायरवाला ने 18.9 लाख रुपये का चेक बाउंस होने का मामला दर्ज कराया था। इसके अलावा अभिनेत्री को बांबे हाईकोर्ट से भी कोई राहत नहीं मिली। उन्होंने हाईकोर्ट में अंधेरी मजिस्ट्रेट कोर्ट में उनके खिलाफ चल रहे मामले में स्टे की मांग की थी। जस्टिस एमएल ताहिलयानी ने उनकी याचिका को अगले महीने सुनवाई के लिए मंजूर कर लिया। टायरवाला ने जिंटा की फिल्म इश्क इन पेरिस की स्क्रिप्ट लिखी थी। उन्होंने अभिनेत्री की ओर से मिले 18.9 लाख रुपये का चेक बाउंस होने पर शिकायत दर्ज कराई थी। इससे पहले भी मजिस्ट्रेट समन के बावजूद कोर्ट में पेश नहीं होने पर अभिनेत्री पर 2 और 5 हजार का जुर्माना लगा चुका है। एक बार तो कोर्ट उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी कर चुका है।

जानिए 'धूम 3' ने पहले दिन तोड़े कितने रिकॉर्ड

धूम 3 ने रिलीज होते ही कोहराम मचा दिया है। इस फिल्‍म ने पहले दिन ही कमाई के कई रिकॉर्ड तोड़े हैं। रिकॉर्ड 150 करोड़ के बजट में बनी फिल्‍म धूम 3 बड़ी हिट की राह में चल चुकी है। इस फिल्म के हिट होने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस फिल्म के सुबह के शो में भी लगभग हाउसफुल रहे। पढ़िए चर्चित और बहुप्रतीक्षित फिल्म 'धूम 3' की समीक्षा सुबह के शो में 75 से 80 फीसदी की बुकिंग दिखी। बड़े शहरों के अलावा छोटे शहरों के मल्टीप्लेक्सों और सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों में भी यह फिल्म अच्छी पसंद की जा रही है। अभी तक कमाई के जो आंकड़े जारी हुए हैं उसमें धूम 3, पहले दिन 40 करोड़ का कारोबार करने में सफल रही है। पहले दिन सबसे ज्यादा पैसे कमाने के मामले में यह फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस और कृष 3 से आगे निकल गई है। फिल्म की एडवांस बुकिंग को देखते हुए लग रहा है यह फिल्म वीकेंड में 100 करोड़ के क्‍लब में शामिल हो जाएगी।

सीएम को मिला चुनावों में तुरुप का पत्ता

केंद्र की नौकरियों में जाटों के लिए आरक्षण का रास्ता साफ करके मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आगामी चुनावों के लिए तुरुप का पत्ता अपने हाथ में कर लिया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा जाटों को ओबीसी कैटेगिरी में आरक्षण देने की एनसीबीसी को सिफारिश करने से प्रदेश के जाटों में खुशी की लहर है। अनेकों खाप पंचायतों और जाट संगठनों ने सीएम का आभार जताया है। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि कांग्रेस को लोकसभा और हरियाणा विधानसभा चुनाव में इसका फायदा जरूर मिलेगा क्योंकि प्रदेश में 60 लाख से ज्यादा जाट हैं। केंद्रीय कैबिनेट द्वारा जाट आरक्षण को हरी झंडी दिखाने के बाद प्रदेश के जाटों में खुशी की लहर है। छोटूराम धर्मशाला में शुक्रवार को अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता जिला प्रधान धर्मपाल हुड्डा ने की। धर्मपाल हुड्डा ने कहा कि जाट केंद्र सरकार के आभारी हैं। वहीं जाट भवन में सर्वखाप पंचायत हुई। पंचायत की अध्यक्षता खाप-84 के अध्यक्ष हरदीप अहलावत ने की। हुड्डा खाप के कार्यकारी अध्यक्ष रामकरण हुड्डा एवं अन्य सभी खाप प्रधानों ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा तालकटोरा स्टेडियम दिल्ली में सभी दूसरे जाट नेताओं को एकजुट कर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने में जो अग्रणी भूमिका निभाई, उसके लिए वे विशेष तौर पर आभारी रहेंगे। सर्वखाप पंचायत में दहिया खाप के प्रधान प्रताप सिंह, दलाल खाप के प्रधान कैप्टन मान सिंह, हुड्डा खाप के कार्यकारी प्रधान रामकर्ण हुड्डा, हुड्डा खाप के संयोजक इंद्र सिंह, अहलावत खाप के प्रधान जय सिंह अहलावत, कादियान खाप के प्रधान केदार सिंह कादियान, गहलोत खाप के प्रधान सतबीर सिंह, अठगामा बोहर के प्रधान बलराज नांदल, किलोई बारह के प्रधान उमेद सिंह आदि मौजूद रहे।

कुख्यात बदमाश डोगा पुलिस ने दबोचा

पीजीआई से पुलिस हिरासत से फरार हुए कुख्यात बदमाश अशोक उर्फ डोगा को अपराध जांच शाखा पुलिस ने साथी अजमेर सहित दिल्ली से गिरफ्तार किया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है। जांच पड़ताल के दौरान डोगा ने स्वीकारा कि फरार होने के बाद उसने एक व्यापारी से चौथ मांगी थी। पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। डोगा के खिलाफ विभिन्न थानों में हत्या और हत्या के प्रयास आदि दस आपराधिक मामले दर्ज हैं और उस पर पचास हजार रुपये का इनाम घोषित है। नौ अक्तूबर को बलियाना निवासी कुख्यात बदमाश अशोक उर्फ डोगा पीजीआई से चकमा देकर फरार हो गया था। उसकी गिरफ्तारी के लिए अपराध जांच शाखा के प्रभारी संदीप धनखड़ के नेतृत्व में विशेष टीमें गठित की थीं। शुक्रवार देर रात को पुलिस को सूचना मिली कि डोगा अपने साथी रिढाना निवासी अजमेर के साथ दिल्ली में छिपा हुआ है। पुलिस ने छापा मारकर दोनों को पकड़ लिया। डीएसपी करण गोयल ने बताया कि पुलिस ने डोगा और अजमेर को अदालत में पेश किया। अर्जी पर सुनवाई करते हुए अदालत ने आरोपियों को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पूछताछ के दौरान आरोपी ने स्वीकार कि पीजीआई से फरार होने के बाद वह दिल्ली और मुंबई सहित अन्य स्थानों पर रहा और इस दौरान उसने रोहतक के एक व्यापारी से चौथ मांगी थी। पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

Dec 19, 2013

एक शख्स जो हर रोज कमाता है 230 करोड़!

एक आदमी के लिए सालाना 5 लाख रुपए का वेतन क्या मायने रखता है, इस बात से हम सभी वाकिफ हैं, लेकिन दुनिया में एक शख्स ऐसा भी है, जो साल के हर दिन 230 करोड़ रुपए कमाता है। जाहिर है, रकम इतनी बड़ी है कि एकबारगी इस फिर विश्वास करना नामुमकिन सा है। लेकिन यह हकीकत है और यह कमाल करने वाले हैं अमेरिका के दिग्गज निवेशक वॉरेन बफेट। वेल्‍थ एक्स के मुताबिक दिग्गज कारोबारी वॉरेन बफेट ने साल 2013 के हर दिन 230 करोड़ रुपए कमाए। यह आंकड़ा उन्हें इस साल सबसे ज्यादा पैसा कमाने वाला अरबपति भी बनाता है। 2013 में 12.7 अरब डॉलर के फायदे के साथ अब साल के अंत में उनकी कुल नेटवर्थ 59.1 अरब डॉलर पर पहुंच गई है। साल की शुरुआत में उनके पास 46.4 अरब डॉलर की संपत्ति थी। हालांकि, वेल्‍थ एक्स ने सबसे ज्यादा रईस अरबपतियों की जो सूची तैयार की है, उनमें वॉरेन बफेट टॉप 10 में शामिल नहीं हैं। माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन बिल गेट्स ने 2013 में अपनी संपत्ति में 11.5 अरब डॉलर जोड़े और साल के अंत में उनकी कुल जायदाद 72.6 अरब डॉलर पर पहुंच गई। Prev Next

Dec 16, 2013

FREE RECHARGE of RS 20

we are giving Rs 20 Recharge free to our readers, just visit this link http://www.blogger.com/share-post.g?blogID=5084677606988647179&target=facebook and share our blog on FACEBOOK, THEN SMS YOUR MOBILE NO AND OPERATOR NAME TO 8570005561 OR EMAIL US ON S_TOMER@ROCKETMAIL.COM

Free Recharge of Rs 20 for our Valued Readers, Just Send Your Mobie no and Operator to S_tomer@rocketmail.com

FREE RECHARGE....Thanks for being a part of ROHTAK NEWS, WE ARE GIVING RS 20 Recharge for Our every reader, Just send your MOBILE No and OPERATOR Name to  S_tomer@rocketmail.com

Dec 14, 2013

चीन में मंडेला को लेकर पाबंदी 

चीन के प्रोपेगेंडा अधिकारियों ने राष्ट्रीय और स्थानीय मीडिया को चेतावनी देते हुए कहा है कि वो दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के अंतिम संस्कार से पहले ख़बरें प्रकाशित करने में सीमाओं का ध्यान रखें। हांगकांग से प्रकाशित अख़बार साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट की वेबसाइट पर यह जानकारी दी गई है। मंत्रालय ने आदेश दिया है कि इस मौके पर मानवाधिकारों और लोकतंत्र के बारे में मंत्रालय के आदेश में कहा गया है, "सभी मीडिया और वेबसाइटों को सोच समझकर सामग्रियों का चयन करना चाहिए और सही रिपोर्टिंग करनी चाहिए।" स्थानीय मीडिया सूत्रों ने भी इस ख़बर की पुष्टि की है। इस आदेश में कहा गया है, "मंडेला के अंतिम संस्कार का फायदा लेकर हमारी राजनीतिक व्यवस्था और सरकारी नेताओं पर हमला करने वाली सभी टिप्पणियों को विबो (माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट) और ब्लॉग से तुरंत डिलीट करना अनिवार्य है।" नियमित दिशानिर्देश प्रोपेगेंडा विभाग समाचार पत्रों, पत्रिकाओं और वेबसाइट के लिए नियमित रूप से आदेश जारी करता है। चीन मीडिया के लिए यह आवश्यक है कि वो राजनीतिक रूप से संवेदनशील विषयों से परहेज़ करे और सरकार के अनुकूल सामग्रियों को बढ़ाचढ़ा कर पेश करे। अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी सहित 70 से ज़्यादा देशों के राष्ट्रध्यक्ष नेल्सन मंडेला को श्रद्धांजलि देने के लिए दक्षिण अफ्रीका पहुंचे। मंडेला का श्रद्धांजलि कार्यक्रम जोहानेसबर्ग के एक स्टेडियम में आयोजित किया गया था। इस मौके पर चीन के उप-राष्ट्रपति ली युआनचाओ ने विशेष रूप से राष्ट्रपति शी जिनपिंग का प्रतिनिधित्व किया। पढ़ें, गायब करने की तकनीक विकसित कर रहा है चीन चीन के मीडिया ने अब तक अंतर्राष्ट्रीय मीडिया की इन ख़बरों का न तो ज़िक्र किया है और ना ही टिप्पणी की है कि दूसरे नेताओं के साथ ली युआनचाओ का नाम लिए जाने पर वहां मौजूद भीड़ ने उनका स्वागत भी किया था और नापसंदगी भी जताई थी। स्थानीय मीडिया को इस बात की चेतावनी भी दी गई है कि वो मंडेला और दलाई लामा के संबंधों को लेकर ख़बरें प्रकाशित न करे और अंतिम संस्कार के दौरान ताइवान से जुड़े मसलों को भी न उठाया जाए। ताइवान के दक्षिण अफ्रीका के साथ राजनयिक संबंध रहे हैं। सुधारों की ज़रूरत तिब्बत और ताइवान से जुड़े मसले चीन के लिए काफी संवेदनशील रहे हैं। चीन के समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स की वेबसाइट पर 11 दिसंबर को प्रकाशित एक संपादकीय में कहा गया है कि पश्चिमी देश अपने भूराजनीतिक स्वार्थों के लिए चीन में मानवाधिकारों के मसले को उठाते हैं। संपादकीय में आगे कहा गया है कि "चीन को मानवाधिकारों की स्थिति में लगातार सुधार करने की ज़रूरत है। हमें पश्चिम के उपयोगी सुझावों को सुनना चाहिए, लेकिन हम अपने घरेलू मामलों में हस्तक्षेप नहीं चाहते हैं।"

गायब करने की तकनीक विकसित कर रहा है चीन 

चीन के वैज्ञानिक चीज़ों को अदृश्य करने की तकनीक विकसित करने पर काम कर रहे हैं। ख़बरों के अनुसार चीन इस तकनीक का सैन्य इस्तेमाल कर सकता है। हांगकांग के अख़बार 'साउथ चाइना मोर्निंग पोस्ट' की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन की सरकार ने ऐसे शोध समूह को आर्थिक मदद उपलब्ध कराई है जो चीज़ों को आँखों या इलेक्ट्रॉनिक सेंसरों के लिए अदृश्य बना देने की तकनीक पर काम कर रहे हैं। इस तकनीक का इस्तेमाल स्टील्थ विमान के विकास में किया जा सकता है। हालाँकि वैज्ञानिकों का मानना है कि इस तकनीक को विकसित होने में अभी दशकों लग सकते हैं क्योंकि फिलहाल इनमें इस्तेमाल हो सकने वाले 'सुपर तत्व' उपलब्ध नहीं है। अख़बार के मुताबिक पिछले हफ़्ते झेजियांग यूनिवर्सिटी ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित ऐसे ग्लास पैनल दिखाए गए थे जिनमें कुछ मछलियाँ और बिल्लियाँ अदृश्य हो गईं थी। हैरी पॉटर फ‌िल्म में दिखाए गए जादूई लबादे जैसी चीज बनाने की उम्मीद होने के बावजदू शुरूआत में इस शोध के उप-उत्पाद विकसित किए जाएंगे। साउथ चाइना मोर्निंग पोस्ट के मुताबिक झेजियांग यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित किया जा रहा एक उपकरण हथियारों और सैनिकों को इंफ्रा रेड सेंसरों के लिए अदृश्य बना देगा। अदृश्यता पर शोध करने वाला चीन अकेला देश नहीं है। पिछले महीने ही अमेर‌िका  के भौतिक शास्त्रियों ने कहा था कि वे ऐसे बेहद सूक्ष्म इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम की जाँच कर रहे हैं जिसका विकास सभी कोणों से देखने पर किसी चीज़ को अदृश्य बनाने के लिए किया जा सकता है।

'केजरीवाल तो ओबामा से भी सवाल पूछ सकते हैं'

कांग्रेस के नेताओं ने आम आदमी पार्टी की चिट्ठी पर स्पष्‍ट जवाब नहीं दिया। चिट्ठी का जवाब देने के ‌लिए पार्टी ने आज अपने दो विधायकों को उतारा। उन्होंने केजरीवाल की चिट्ठी को लोगों को गुमराह करने की कोशिश बताया और सवालों का प्रशासनिक मामला बताकर पल्‍ला झाड़ लिया। चिट्ठी के जवाब में कांग्रेस विधायक हारुन युसूफ ने कहा कि आम आदमी पार्टी जिम्‍मेदारी से बचने की को‌‌शिश कर रही है। उन्होंने कहा कि वादे करना आसान काम है, उन्होंने अपने मैनिफेस्टो में कई वादे किए है। हम इन्हें मौका दे रहे हैं। इन्होंने जो कुछ मैनिफेस्टो में कहा है उसे लागू करें।‌ पढ़ें:आप की चिट्ठी या शब्दों की चासनी में भिगोया खंजर बिजली कंपनियों की ऑडिटिंग पर हारुन युसूफ ने कहा कि दिल्ली की सरकार बिजली कंपनियों की ऑडिटिंग का प्रस्ताव हाईकोर्ट को दे चुकी है। अब आप के लोग ये पूछ रहें है कि हम ये करेंगे या नहीं? उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का जो रवैया है, उससे लगता है कि वे कुछ दिन में यूनाइटेड नेशन्‍स को लिखेंगे, अमेरिकन प्रेसिडेंट को लिखेंगे। वे लिखें, हम क्या कर सकते हैं उसमें। कांग्रेस विधायक अरविंदर लवली ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्षा को लिखी चिट्ठी में आम आदमी पार्टी ने जो सवाल किए हैं, वे प्रशासन से जुड़ें फैसले हैं। उसमें हम क्या कर सकते हैं। पढ़ें, केजरीवाल का मास्टर स्ट्रोक, बैकफुट पर बीजेपी-कांग्रेस उन्होंने कहा, 'ये साथी नए-नए राजनीति में आए हैं, उनमें ज्ञान की कमी हो सकती है। उनकी शर्तें प्रशासनिक कार्यों से जुड़ी है। उनमें विधानसभा की क्या भूमिका है।' अरविंदर लवली ने कहा कि बिजली सस्ती करने का फैसला कैबिनेट करती है। भ्रष्टाचार की जांच का आदेश मुख्यमंत्री देता है है। विधानसभा इसमें क्या कर सकती है। पढ़ें, केजरीवाल के 18 सवाल जो सोनिया-राजनाथ से पूछे उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पानी का रेट कम करना चाहती है तो करे। मुख्यमंत्री जल बोर्ड का अध्यक्ष होता है। उन्हें इसका फैसला करना होता है। विधानसभा क्या कर सकती है। समर्थन वापसी की आशंका पर लवली ने कहा कि विधानसभा में एक बार बहुमत सिद्घ हो जाने के बाद 6 महीने तक अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता है। आप अपने वादे पूरे करें, लोगों को गुमराह न करें।

'केजरीवाल तो ओबामा से भी सवाल पूछ सकते हैं'

कांग्रेस के नेताओं ने आम आदमी पार्टी की चिट्ठी पर स्पष्‍ट जवाब नहीं दिया। चिट्ठी का जवाब देने के ‌लिए पार्टी ने आज अपने दो विधायकों को उतारा। उन्होंने केजरीवाल की चिट्ठी को लोगों को गुमराह करने की कोशिश बताया और सवालों का प्रशासनिक मामला बताकर पल्‍ला झाड़ लिया। चिट्ठी के जवाब में कांग्रेस विधायक हारुन युसूफ ने कहा कि आम आदमी पार्टी जिम्‍मेदारी से बचने की को‌‌शिश कर रही है। उन्होंने कहा कि वादे करना आसान काम है, उन्होंने अपने मैनिफेस्टो में कई वादे किए है। हम इन्हें मौका दे रहे हैं। इन्होंने जो कुछ मैनिफेस्टो में कहा है उसे लागू करें।‌ पढ़ें:आप की चिट्ठी या शब्दों की चासनी में भिगोया खंजर बिजली कंपनियों की ऑडिटिंग पर हारुन युसूफ ने कहा कि दिल्ली की सरकार बिजली कंपनियों की ऑडिटिंग का प्रस्ताव हाईकोर्ट को दे चुकी है। अब आप के लोग ये पूछ रहें है कि हम ये करेंगे या नहीं? उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का जो रवैया है, उससे लगता है कि वे कुछ दिन में यूनाइटेड नेशन्‍स को लिखेंगे, अमेरिकन प्रेसिडेंट को लिखेंगे। वे लिखें, हम क्या कर सकते हैं उसमें। कांग्रेस विधायक अरविंदर लवली ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्षा को लिखी चिट्ठी में आम आदमी पार्टी ने जो सवाल किए हैं, वे प्रशासन से जुड़ें फैसले हैं। उसमें हम क्या कर सकते हैं। पढ़ें, केजरीवाल का मास्टर स्ट्रोक, बैकफुट पर बीजेपी-कांग्रेस उन्होंने कहा, 'ये साथी नए-नए राजनीति में आए हैं, उनमें ज्ञान की कमी हो सकती है। उनकी शर्तें प्रशासनिक कार्यों से जुड़ी है। उनमें विधानसभा की क्या भूमिका है।' अरविंदर लवली ने कहा कि बिजली सस्ती करने का फैसला कैबिनेट करती है। भ्रष्टाचार की जांच का आदेश मुख्यमंत्री देता है है। विधानसभा इसमें क्या कर सकती है। पढ़ें, केजरीवाल के 18 सवाल जो सोनिया-राजनाथ से पूछे उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पानी का रेट कम करना चाहती है तो करे। मुख्यमंत्री जल बोर्ड का अध्यक्ष होता है। उन्हें इसका फैसला करना होता है। विधानसभा क्या कर सकती है। समर्थन वापसी की आशंका पर लवली ने कहा कि विधानसभा में एक बार बहुमत सिद्घ हो जाने के बाद 6 महीने तक अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता है। आप अपने वादे पूरे करें, लोगों को गुमराह न करें।

मोदी पीएम बने तो सौरव गांगुली खेल मंत्री! 

ऐसी खबरे हें कि टीम इंडिया के धाकड़ कप्तान रहे सौरव गांगुली अब राजनीति के मैदान पर अपना जलवा बिखेरने को तैयार हैं और इसके लिए एक राष्ट्रीय पार्टी ने टिकट देने का प्रस्ताव भी दिया है। गांगुली बाएं हाथ के बल्‍लेबाज रहे हैं और अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को कई नायाब जीत दिलाई है। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद गांगुली कमेंट्री में भी सफल रहे हैं। मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार 'प्रिंस ऑफ कोलकाता' सौरव गांगुली को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने लोकसभा चुनाव के‌ लिए सीट देने का प्रस्ताव दिया है। आम चुनाव अगले साल होने हैं और अभी यह जानकारी नहीं मिली है कि उन्होंने यह प्रस्ताव स्वीकार किया है या नहीं। धोनी की टीम इंडिया को लगा झटका कहा जा रहा है कि यह प्रस्ताव भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की ओर से आया है। अगर मोदी की केंद्र में सरकार बनती है तो गांगुली को खेल मंत्री बनाया जा सकता है। एक बंगाली दैनिक अखबार ने गांगुली के बयान को छापा है जिसमें उन्होंने कहा, "हां, मेरे पास ऐसा प्रस्ताव है। लेकिन मैंने अभी कोई फैसला नहीं लिया है कि क्या करना है। मैं पिछले कुछ समय से बहुत व्यस्त हूं। जल्द ही आप लोगों को मेरे फैसले के बारे में पता लग जाएगा।" बड़ी दुर्घटना से बाल-बाल बचे क्रिस गेल पहले भी यह खबर आई थी कि गांगुली ने भाजपा नेता वरुण गांधी से नवंबर के मध्य में मुलाकात की थी। हालांकि यह मुलाकात मित्रवत थी। वरुण भाजपा के महासचिव हैं। साथ ही वह पश्चिम बंगाल में पार्टी के प्रभारी भी हैं। हालांकि खुद गांगुली ने इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है।

मध्यप्रदेश का 'विष पुरुष', पीता है छिपकलियों का जूस 

कोई गिरगिट, छिपकलियों, तिलचट्टों, मकड़ियों, केंचुओं और अन्य कीड़े-मकौड़ों को खाता-पीता है, यह जानकर एक पल के लिए शायद आपको यकीन न हो। लेकिन यह सच है। मध्य प्रदेश में सीहोर जिले के मैना गांव निवासी कैलाश ऐसे ही खतरनाक जीवों का सेवन करते हैं। लोग उनको 'विष पुरुष' कहते हैं। टीओआई की खबर के अनुसार, 40 साल के कैलाश पिछले 20 सालों से छिपकलियों का सोरबा पी रहे हैं। वह छिपकलियों की पूंछ खाते हैं और उसके शरीर के बाकी हिस्सों को उबालकर उसका रस बनाकर पीते हैं। कैलाश का कहना है कि उन्हें सोने से पहले तीन छिपकलियों के जूस की जरुरत होती है। इसे पीए बिना उनको नींद नहीं आती। पढ़ें, पेशाब करने के दौरान, सांप ने किया गुप्तांग पर वार कैलाश अब तक 60 से ज्यादा तरह के रेंगने वाले जीवों और कीड़े-मकौड़ों का स्वाद चख चुके हैं। आठवीं तक पढ़े कैलाश को लोग 'विष पुरुष' कहते हैं। जब उनके क्षेत्र में किसी को सांप काटता है तो लोग उनको बुलाकर ले जाते हैं। कैलाश का कहना है कि वह सांप का जहर चूसकर कई लोगों की जान बचा चुके हैं। पढ़ें, इस लड़की की पुरानी तस्वीर देखने की हिम्मत नहीं होगी आपमें कैलाश ने अपनी इस खतरनाक आदत के बारे में बताया, 'जब मैं छोटा था तब कीड़े-मकौड़ों के साथ खेलता था। उसके बाद, मैं उनको खाने लगा। फिर यह मेरी आदत बन गई।' उनकी इस खौफनाक आदत को देखकर लोग हैरत में पड़ जाते हैं। कैलाश को इस बात का दुख है कि लोग उनको तभी याद करते हैं जब जिंदगी और मौत का सवाल होता है। कैलाश कहते हैं, 'लोग सांप का जहर चूसने के लिए मुझे बुलाते हैं, वरना वह मुझसे मिलने से बचते हैं। मुझे तब बहुत बुरा लगता है जब लोग मेरे इस्तेमाल किए गए सामान को तोड़कर फेंक देते हैं।'

ससुर बना शैतान, बहू के साथ रेप कर जंगल में फेंका

नई-नवेली दुल्हन के हाथ सिर्फ ढाई म‌हीने पहले पीले हुए थे। बड़े अरमानों से मां-बाप ने उसे विदा किया था। लेकिन युवती ने जो ख्वाब सजाए थे, वो पल भर में बिखर गए। दहेज की मांग से शुरू हुई प्रताड़ना दरिंदगी त‌क जा पहुंची। उसने कभी सोचा नहीं था कि जिस घर में वह लक्ष्मी बनकर जा रही है, वहीं उसकी अस्मत तार-तार हो जाएगी। पिता समान ससुर ने ही उसकी आबरू लूट ली। हनीमून पर पत्नी के साथ हैवानियत सात जन्मों का साथ निभाने के लिए जिस युवक ने उसका हाथ थामा था, वो पिता की हैवानियत पर मूक दर्शक बना रहा। यह घटना गौतमबुद्धगनर जिले के बिसरख कोतवाली की है। जानकारी के मुताबिक बिसरख कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में परिवार रहता है। युवती के परिवार ने एक युवक से उसकी शादी कर दी थी। ढाई माह पहले हुई शादी के बाद ससुराल वालों ने दहेज की मांग करनी शुरू कर दी। मां को बंधक बनाया, बेटी से किया गैंगरेप आरोप है कि एक सप्ताह पहले सास और ससुर ने युवती से मारपीट की। नवविवाहिता ने अदालत में प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया है कि ससुर ने उसके साथ बलात्कार किया और उसे जंगल में जाकर फेंक दिया। इसमें उसके पति की भी मौन सहमति थी। बाइक के एक नंबर ने खोल दी नाजायज रिश्ते की पोल वहां से किसी तरह वह अपने मायके वालों के पास पहुंची। जहां से उसे अस्पताल पहुंचाया गया। पुलिस के पास वह रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए गई तो रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। जिसके कारण उसे अदालत की शरण जाना पड़ा। पुलिस का कहना है कि उनके पास कोई रिपोर्ट दर्ज कराने नहीं आया था। हालांकि, अदालत के आदेश का पालन करते हुए रिपोर्ट दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है।

Commonwealth games scam

Commonwealth games scam The Commonwealth games scam as it is known involved large scale misappropriation of money during the preparatory phase and conduct of the 2010 Commonwealth games held in New Delhi. The total value of the scam is estimated to be 700 crore. Contents [hide]  1 Parties involved 1.1 Politicians involved 1.2 Bureaucrats involved 1.3 Corporations involved 1.4 Businessmen involved 1.5 Whistleblowers/ Law enforcers 2 Scam 2.1 Time scoring results system 2.2 Queens baton relay 2.3 Broadcast network 2.4 Recruitment to Organising committee 2.5 CNN-IBN NDTV Hindustan Times 2.6 Street lighting scam 3 Response to scam 4 Arrests made 5 Release on bail 6 Conviction 7 References 8 See also Parties involved Like any other scams it involved politicians, bureaucrats and corporates acting in collusion Politicians involved Suresh kalmadi, the Congress party representative to 15 LokSabha from the Pune constituency. He was the Chairman of the Organising Committee of the Delhi Commonwealth games. Sheila Dikshit, Chief minister of Delhi: Was indicted for several irregularities in the CWG processes both by Shunglu committee and also by the CAG Robert Vadra Bureaucrats involved Lalit Bhanot, Secretary General of the Organising committee TS Darbari, Joint Director General of the Organising committee Sanjay Mahindroo, Deputy Director General of the Organising committee BS Lalli, CEO of Prasar Bharati M Jayachandran, Joint Director General (Accounts and Finance) Corporations involved AM Films AM Cars SIS Live Jaypee Group, Its alleged that the proceeds of corruption are parked here through financial involvement of Suresh Kalmadi's son, Sumeer Kalmadi in the F1 circuit project at Greater Noida. MTNL HCL Infosystems Sweka Powerteck Engineers Pvt Ltd Businessmen involved RSP Sinha, MTNL CMD SM Talwar, Executive director MTNL NK Jain, GM (Corporate Sales) MTNL Jitendra Garg, DGM MTNL Whistleblowers/ Law enforcers The scam was unearthed by CAG even before the conduct of the games. Presently the scam is being probed by the CBI. Scam The various contracts were manipulated by Kalmadi and team and allegedly misappropriated huge amounts in the process. Time scoring results system Kalmadi has been accused of awarding illegal contracts to a Swiss firm for Timing-Scoring-Result system for the Games causing a loss of Rs 95 crore to the exchequer. Queens baton relay The Enforcement Directorate is probing the flow of funds and forex during the Queens Baton Relay held in London prior to the Commonwealth Games, apart from investigating the overlays-related works of the Games under the Prevention of Money Laundering Act. The ED case registered the case under Fema after British authorities referred to the Indian High Commission a matter regarding hiring of London-based transport firm AM Cars and Vans at exorbitant prices, and to similar high payments to AM Films for installing video screens at the venue of the Queen's Baton Relay. Broadcast network CBI registered another case in the Commonwealth Games scam and searched residences of officials of Mahanagar Telecom Nigam Limited, or MTNL, and Noida based HCL Infosystems for allegedly inflating cost of setting up a broadcast network for the Games by nearly Rs 400 crore. It is alleged that MTNL awarded the work of broadcast network based on IP/MPLS Technology at an exorbitant price of approximately Rs 570.12 crore by manipulating specifications in such a manner as to make them tailor made for the said bidder to the said private company (HCL)," Mishra said. The agency alleged that initial estimate of broadcasting data transmission project for the sporting extravaganza was very limited with an initial estimate of Rs 31.43 crore, but MTNL officials included a Broadcast Video Network based on IP-MPLS technology, which resulted in cost escalation by Rs 380.04 crore. CBI alleged that this change in specification was done with an intention to cause huge pecuniary advantage to HCL Infosystems, causing loss to the exchequer. Recruitment to Organising committee CBI sources lodged Preliminary Enquiry report against unknown persons in the Games organising body after it received several complaints and references from the Central Vigilance Commission claiming violation of norms in the appointments. They said the complainants alleged involvement of sacked OC Chairman Suresh Kalmadi, who is at present in judicial custody, and his close aides for irregularities in the recruitment process. In its PE, the CBI has alleged that during the period of 2003 to 2009, some persons were nominated to the OC who had no expertise for various jobs. The Games organising body had an overall strength of about 2,100 officials engaged for various duties related to the mega sporting event. At present, there are about 100 officials on the rolls. The CVC has also conducted an enquiry into the alleged recruitment scam following complaints that it showed ghost employees on its muster rolls and violated norms while inducting people. The High Level Shunglu Committee had also found alleged irregularities in the recruitment procedures followed by certain OC officials. CNN-IBN NDTV Hindustan Times The CAG has questioned the deals between the CWG and certain media houses as the organising committee (OC) apparently resorted to pick-and-choose policy in the award of contracts worth over Rs. 6.73 crore. The CAG, in its report, tabled in Parliament last week, has dubbed the process arbitrary and biased. The contract for production and broadcasting of commercials was given to two news channels, CNN-IBN and NDTV. The CAG said the OC followed an arbitrary approach with no planning for specific channels, time slots and cost benefit analysis. The CAG is more severe in its observations on the contract for creating a Games Time website, meant to put out real time information on sporting events, given to HT-Hungama - a consortium comprising Hindustan Times and Hungama. It has lambasted the process of awarding the contract to the consortium and said their work was deficient. A benevolent OC overlooked the non-performance and did not encash the performance guarantee of Rs. 0.29 crore. A contract tweaked in favour of HT-Hungama had no other provisions for penalties case of non-performance, the CAG said. It said the bidding process was squeezed and completed within two months, leading to several irregularities. Among the three bidders, HT-Hungama's documentation was deficient but ignored by the technical committee. It led the CAG to conclude that the process was tailored in HT-Hungama's favour. Street lighting scam Entrepreneurs JP Singh and TP Singh conspired with Kalmadi team for award of a contract to their firm for upgrading Delhi's street lighting before the 2010 Commonwealth Games. Singhs along with MCD Superintendent Engineer DK Sugan, Executive Engineer OP Mahala, Accountant Raju V and civic body's tender clerk Gurcharan Singh have been accused of causing a loss of nearly Rs1.43 crore to the exchequers in illegal award of the contract to the firm. The trial court on March 12 had framed charges against Singhs and other accused for criminal conspiracy, cheating and forgery under the Indian Penal Code (IPC) and various provisions of the Prevention of Corruption (PC) Act. Bail was ultimately granted to the promoters of Delhi-based Sweka Powerteck Engineers Pvt Ltd on a personal bond of Rs five lakh each along with two sureties of same amount. Response to scam Kalmadi and Bhanot was sacked from the Organising Commitee by the Sports ministry on Jan 2011 Shunglu panel was constituted by Prime minister Manmohan Singh to go into the irregularities in the conduct of the Games. After his arrest on 25 Apr 2011, Suresh kalmadi was suspended by the Indian National Congress Arrests made TS Darbari and Sanjay Mahindroo was arrested by the CBI on 23 Nov 2010 Suresh kalmadi was arrested on 25 Apr 2011 and the next day was sent to eight days police custody. Release on bail Suresh Kalmadi often regarded as the CWG scamster was given bail by the Delhi High court on 19 Jan 2012. The stand taken by the CBI in High court helped Kalmadi secure bail. Almost every accused has been released on bail, while both the investigation and court proceedings linger at snail's pace. Conviction Leave alone conviction, Suresh Kalmadi who masterminded the scam has refused to even quit his posts in Olympic Association with tactit support of Congress party. India was humiliated in world stage when World Olympic Association asked India to take action against the tainted President of IOA. The case and its progress are seldom reported in the media. CBI also seems to be happy with adopting the Bofors approach of stalling investigation. The officers are well rewarded with retirement posts in such incidents. References http://ibnlive.in.com/news/cwg-scam-panel-indicts-prasar-bharati-ceo/142000-3.html http://www.thehindu.com/news/national/article2512437.ece http://indiatoday.intoday.in/story/games-contracts-to-media-houses-arbitrary-and-biased-cag-report/1/147735.html http://timesofindia.indiatimes.com/india/Suresh-Kalmadi-walks-out-of-Tihar-IOA-says-he-can-be-boss-again/articleshow/11555980.cms http://www.dnaindia.com/india/report_cwg-scam-hc-grants-bail-two-accused-in-street-lighting-scam_1692368 http://articles.economictimes.indiatimes.com/2012-05-14/news/31701280_1_msl-spain-tsr-contract-swiss-timing See also Guwahati molestation, role of journalist and Congress protection to accused Vasant Dhoble and his crusade against Mumbai mafia Robert Vadra, one of the fastest millionaires Decoding the channel CNN-IBN 2G scam Aligarh Muslim University Category: Corruption in India Navigation menu Create accountLog inPageDiscussionReadView sourceView history Navigation Report corruption Corruption in India Media in India Terrorism in India Black money in India Crime in India Give feedback Toolbox What links here Related changes Special pages Printable version Permanent link Page information This page was last modified on 7 September 2013, at 08:59. This page has been accessed 18,444 times. Content is available under Public Domain. Privacy policyAbout Ekaki ZunjDisclaimers

Dec 13, 2013

भरी सभा में कथा वाचिका की मांग भरी, मचा बवाल! 

टाटा मोटर्स ने पीपल्स कार कही जाने वाली टाटा नैनो में एक जबर्दस्त ट्विस्ट आने वाला है जो खासतौर पर महिलाओं को आकर्षित करेगा। टाटा मोटर्स अपनी सबसे सस्ती कार के नाम से पुकारे जाने वाली कार को नए फीचर्स के साथ लॉन्च करने वाली है। कंपनी इस मॉडल को "नैनो टि्वस्ट" के नाम से लेकर आ रही है। कंपनी के मुताबिक टाटा नेनो टि्वस्ट को अगले साल 15 जनवरी को लांच किया जाएगा। टाटा नैनो के इस छोटी कार में अब लोगों को काफी सुविधजनक सवारी करने के लिए स्पेस मिलेगा। साथ ही कंपनी नैनो ट्विस्ट ने शानदार पॉवर स्टेयरिंग की सुविधा भी मिलेगी। भारत के खेतों में दौड़ेगा लग्जरी लैम्बोर्गिनी ट्रैक्टर इसमें खास बात ये है कि नैनो टि्वस्ट में पावर स्टेयरिंग दिया जा रहा है और ऐसा पहली बार होने जा रहा है। अब तक इसके जितने भी वेरियंट आए है उनमें मेकेनिकल स्टेयरिंग व्हील ही दिया गया है। हिंदुस्तान मोटर्स और फिएट मिलकर ला रहे है ये कार नैनो टि्वस्ट के लिए यह पावर स्टेयरिंग जेडएफ कंपनी ने बनाया है। कीमत के अनुसार यह मॉडल पहले से मिल रहे मेकेनिकल स्टेयरिंग व्हील वाले मॉडल से करीब 15 हजार रुपए महंगा होगा। नैनो दुनिया की सबसे सस्ती कार पेट्रोल के अलावा अब नैनो को सीएनजी वर्जन में भी उतारा जा चुका है।

भरी सभा में कथा वाचिका की मांग भरी, मचा बवाल! 

एक युवक को श्रीमद्भागवत कथा वाचिका से एकतरफा मोहब्बत हो गई। व‌‌ह उसके घर पहुंच गया। उस समय वहां श्रद्धालुओं की भीड़ लगी थी। युवक ने दर्शन के बहाने कथा वाचिका की मांग में सिंदूर भर दी। इससे श्रद्धालुओं में हड़कंप मच गया। लोगों ने दबोच कर युवक की जमकर धुनाई की और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने उसे शांति भंग में जेल भेज दिया। घटना उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की है। बीवी की प्रेमी से रचा दी शादी, और फिर... श्रीमद्भागवत कथा वाचिका के साथ बृहस्पतिवार को उस समय अप्रत्याशित घटना हुई, जब वह अपने आवास पर श्रद्धालुओं से मिल रही थी। एक युवक ने उनका हाथ पकड़ कर मांग में सिंदूर भर दिया। इस पर कथा वाचिका भी आग बबूला हो गई। वहां मौजूद श्रद्धालुओं ने युवक की जमकर धुनाई कर दी। हनीमून पर पत्नी के साथ हैवानियत पुलिस ने युवक को सिटी मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। वहां से 14 दिन के रिमांड पर उसे जेल भेज दिया गया। पुलिस के अनुसार, युवक का नाम राम नारायण गुप्ता है। वह रोजाना कथा सुनने जाता था। इसी दौरान उसे कथा वाचिका से एकतरफा प्रेम हो गया।

महाभारत? जुए में बेटी हार गया बाप, गांव बना धृतराष्ट्र 

महाभारत के पांडवों को जुए में मिली हार की कहानी पश्चिम बंगाल में दोहराई गई है। फर्क बस इतना है कि पांडव जुए में अपनी पत्नी हार गए थे और यहां ए‌क पिता अपनी बेटी हार गया। जुए की लत में पहले ही जमीन-जायदाद लुटवा चुके शराबी पिता ने हार के बाद अपनी 13 साल की बेटी की शादी युवक से करने का ऐलान पंचायत के सामने कर दिया। इस मामले के मीडिया में आने के बाद विवा‌ह‌ को रोकने का प्रयास शुरू हो गया है। बाइक के एक नंबर ने खोल दी नाजायज रिश्ते की पोल टीओआई के अनुसार, मालदा जिले के हबीबपुर गांव का रहने वाला परीमल मंडल जुए की लत के लिए बदनाम है। जुए में अपना सबकुछ हारने के बाद भी उसमें कोई सुधार नहीं हुआ। दाव पर लगाई बेटी नशे में धुत परीमल चार दिसंबर को ऋषिपुर बाजार में एक युवक सुकुमार मंडल से जुए में हार गया। वह हारने के बाद भी वहां से हटने को तैयार नहीं था। हनीमून पर पत्नी के साथ हैवानियत जब दांव पर लगाने के लिए उसके पास कुछ नहीं र‌हा तो उसने अपनी बड़ी बेटी को ही दांव पर लगा दिया। वह फिर हार गया। लोग तमाशबीन बने रहे, किसी ने भी इस पर एक आवाज नहीं उठाई। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान उस समय लड़की स्कूल में थी। 22 जनवरी को शादी जब परीमल गांव वालों के सामने अपनी बेटी से सुकुमार से शादी का ऐलान कर रहा था उस दौरान दो परिवारों ने शादी की तारीख 22 जनवरी भी तय कर दी। नौ दिसंबर को दोनों के घरवालों और पंचायत के सदस्यों के सामने मंगनी भी हो गई। इसकी सूचना जब मीडिया को लगी तो इस शादी को रोकने के लिए जिला प्रशासन और गांव के बड़े-बुजुर्गों पर दबाव डाला जाने लगा। 8वीं में पढ़ने वाली लड़की ने बताया कि‌ कुछ लड़के उसे छेड़ते थे। इसलिए मेरे पिता ने मेरी शादी करने का निर्णय लिया है। परीमल ने गुरुवार को कहा, 'मेरी बेटी के लिए जो बेहतर होगा वह मैं करूंगा। आपको इससे क्या मतलब?' जिला प्रशासन ने इस घटनाक्रम पर गांव के प्रधान से रिपोर्ट मांगी है।

टैबलेट, लैपटॉप और डेस्कटॉप ऑल इन वन डिवाइस 

आसूस पिछले कुछ सालों से कई हाइब्रिड ‌डिवाइस लॉन्च कर चुकी है। आसूस की पहली हाइब्रिड डिवाइस ट्रांसफर थी जिसको कंपनी ने एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर कीबोर्ड की सुविधा के साथ लॉन्‍च किया था। इसके बाद कंपनी ने कई और ‌हाइब्रिड डिवाइस जैसे फोनपैड को भी बाजार में उतारा है। कंपनी ने अब अपनी लेटेस्ट हाइब्रिड डिवाइस ट्रांसफर बुक ट्रियो (Transfer Book Trio) को उतारा है जो कि नोटबुक, टैबलेट और डेस्कटॉप तीनों का एक मिश्रित है। मोबाइल और टैबलेट खरीदने के लिए इससे अच्छा मौका ‌फिर नहीं इसी के साथ आसूस ने भारत में अपने दोहरे ऑपरेटिंग सिस्टम (Dual Operating System) व डुअल स्टोरेज (Dual Storage) की शुरूआत की है।   पीटर चेंग, रीजनल हेड, साउथ एशिया एव कंट्री मैनेजर, आसूस इंडिया, का कहना है कि "हमारी डिजाइन की सोच लोगों के नजरिए से शुरू होती है और उत्पाद व डिजाइन और विकास में काफी आगे जाकर हमारे प्रयास के अविश्वसनीय पहलुओ को दर्शाती है। ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान इन 12 धोखों से बचें अलग से उपयोग किए जाने वाले कीबोर्ड वाले इस लैपटॉप में 11.6 इंच के डिस्‍प्ले में अलग तरीके से उपयोग किया गया अल्ट्रापोर्टेबल डिवाइस एक बेहतरीन तकनीक का उपयोग है। हमारी कोशिश है कि हम उपने उपभोक्ताओं को सर्वश्रेष्ठ तकनीक उपलब्ध करा सकें। " आसूस बुक ट्रियो में डुअल ऑपरेटिंग सिस्टम और डुअल प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है। डिस्‍प्ले शुरू होने के बाद ट्रांसफर बुक ट्रियो विंडोज 8 (Windows 8) और एंड्रॉयड (Android) के बीच कीबोर्ड का ट्रियो बटन दबाने पर कार्य कर सकता है। इसकी खासियत है कि इसका अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग व्यक्तियों द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है। इस स्मार्ट रिंग में आएगी ईमेल, मैसेज और फेसबुक की अपडेट इसके अन्य फीचर्स की बात करें तो ये पोर्टेबिलिटी (Potability) से जुड़ा हुआ है और यह पीसी स्टेशन में ब्लूटूथ 4.0 और टैबलेट डिसप्ले में ब्लूटूथ 3.0 कार्य करता है। इसके एंड्रॉयड मोड में 13 घंटे का बैकअप और विंडोज8 मोड में 5 घंटे का बैटरी बैकअप मिलता है। टच पैनल स्क्रीन  के साथ ही इसमें 5.0 मैगापिक्सल कैमरा है। यह भारत में सभी रिटेल सेंटरो पर उपलब्ध होगा और भारतीय बाजार में इसकी कीमत 98,099 रुपए है।

अब हर तरफ रहेगी पुलिस नजर

रोहतक। अब पीसीआर और राइडर पर तैनात पुलिसकर्मी स्कूल, कॉलेज, पार्क और बैंक सहित शिक्षण संस्थानों के बाहर मुस्तैदी से नजर आएंगे। इसके लिए पुलिस अधीक्षक ने दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके अलावा शाम के समय भीड़-भाड़ वाले स्थानाें और सार्वजनिक स्थलों पर भी तैनाती रहेगी। सुबह के समय पार्कों के बाहर राइडर और पीसीआर की तैनात की गई है। इसके बाद बैंक, शिक्षण संस्थान और बाजार में तैनात होगी। पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल ने निर्देश दिए हैं कि घटना की सूचना मिलते ही राइडर और पीसीआर तुरंत मौके पर पहुंचे और पुलिस मुख्यालय को मामले से अवगत कराए। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि जिले में मौजूदा समय में 45 राइडर और 18 पीसीआर हैं। इनके प्वांइट निर्धारित हैं। इसके अलावा महिला पीसीआर और राइडर की अलग से तैनात की गई है। महिला पीसीआर व राइडर की तैनाती के बाद से ही शिक्षण संस्थानों और अन्य स्थानों पर छेड़छाड़ की घटनाओं पर पूरी तरह से काबू पाया गया है।

Dec 11, 2013

बहलाकर लड़कियों को भगाया, दो गिरफ्तार

शहर थाना पुलिस ने एक ही स्कूल की 10वीं कक्षा की तीन छात्राओं को बहला-फुसलाकर भगाने वाले दो युवकों को पानीपत से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मेडिकल परीक्षण के बाद छात्राओं को परिजनों को सौंप दिया। जबकि दोनों युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। शहर के रहने वाले दो युवक नवीन और विकास गत दिवस 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली तीन छात्राओं को बहला-फुसलाकर ले गए थे। जैसे ही पुलिस को मामले की सूचना मिली, पूरे विभाग में हड़कंप मच गया। पुलिस ने एक छात्रा के पिता के बयान पर मामला दर्ज कर दोनों आरोपियों को तीनों लड़कियों के साथ पानीपत से गिरफ्तार कर लिया। पांचों का सरकारी अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया गया है। आरोपियों ने पुलिस के सामने दुराचार की पुष्टि की है। बताया जाता है कि काफी समय से पुरानी मंडी स्थित सरकारी स्कूल की कुछ लड़कियां इन युवकों के संपर्क में थी। मौका पाकर दोनों युवक इन लड़कियों को भगा ले गए। डीएसपी यशपाल खटाना ने बताया कि शहर थाना प्रभारी ईश्वर टंडन के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन के आधार पर दोनों लड़कों के साथ तीनों छात्राओं को भी पानीपत से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने सभी का मेडिकल परीक्षण कराया। जिसमें दो लड़कियों के साथ दुराचार करने की पुष्टि की गई है। पुलिस ने दोनों युवकों को अदालत में पेश कर दिया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

लापता प्रेमी जोड़े को पुलिस ने दबोचा

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में एक गांव से 10 दिनों से लापता प्रेमी जोड़े को पुलिस ने मंगलवार को जयपुर से हिसार जा रही बस से पकड़ लिया। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए नाबालिग लड़की का महेंद्रगढ़ के सरकारी अस्पताल में मेडिकल करवा दोनों को अदालत में पेश किया। अदालत ने युवक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। लड़की को उसके परिजनों के सुपुर्द करने के निर्देश दिए गए हैं। जानकारी के अनुसार 17 वर्षीय एक नाबालिग 30 नवंबर को देर शाम अपनी भैंस बांधने नोहरे में गई थी लेकिन वापस नहीं लौटी। लड़की के परिजनों ने उसकी तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं चला। अगले दिन महेंद्रगढ़ पुलिस चौकी में लड़की के पिता ने गांव ढ़ाढ़ोत के कर्मबीर नामक टेंपो चालक पर उसकी पुत्री को बहला-फुसला कर भगा ले जाने का मामला दर्ज कराया था। मंगलवार को पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी लड़की के साथ जयपुर से हिसार जाने वाली बस में सवार है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एक टीम गठित करके बस को दोपहर एक बजे सतनाली चौक पर रुकवाकर दोनों को पकड़ लिया। बताया जा रहा है कि लड़की 9वीं कक्षा की छात्रा है और आरोपी के टेंपो से स्कूल जाया करती थी।

जहां सीएम हुड्डा गए, वहीं बंटाधार 

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता वीर कुमार यादव ने कहा कि विधानसभा चुनावों में जहां-जहां सीएम और उनके बेटे सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने चुनाव प्रचार किया, वहीं पर प्रत्याशी को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि देश में कांग्रेस का दौर समाप्ति की ओर है। चार राज्यों में हुए विधानसभा के चुनावों के नतीजों ने यह स्पष्ट कर दिया है। अब लोग भाजपा नेता नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री की बागडोर सौंपने के लिए तैयार हैं। वे सोमवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश को भारी कर्ज तले दबा चुकी प्रदेश सरकार विकास शुल्क में कई गुणा बढ़ोतरी कर जनता से वसूलना चाहती है। यादव ने हरियाणा में वाहनों पर एकमुश्त बीस प्रतिशत रजिस्ट्रेशन शुल्क लगाने की भी निंदा करते हुए कहा कि यह भी वाहन मालिकों के साथ छल है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार और कानून व्यवस्था से प्रदेश में त्राहि त्राहि मची हुई है। कानून व्यवस्था का सबसे अधिक बुरा हाल मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र का है। वीर कुमार यादव ने इससे पहले पार्टी के पदाधिकारियों को चुनाव के लिए तैयार रहने को कहा। उन्होंने बताया कि भाजपा-हजकां लोकसभा चुनाव के लिए तैयार है। इसके लिए बाकायदा बूथ स्तर से लेकर संसदीय क्षेत्र तक में बैठकें हो चुकी हैं। पत्रकार वार्ता में मनीष ग्रोवर, रामचंद्र जांगड़ा, अशोक खुराना, जयकिशन, प्रतिभा सुमन, राजबाला चहल, सुरेंद्र बंसल, राजकुमार कपूर, रमेश सहगल, विजय आर्य, लवलीन टुटेजा और कपिल नागपाल उपस्थित रहे।

Dec 8, 2013

नारनौल अस्पताल से कैदी फरार 

हरियाणा के नारनौल में शनिवार सुबह एक कैदी सामान्य अस्पताल से फरार हो गया। सूचना मिलने पर जिला पुलिस ने नाकाबंदी कर फरार कैदी की तलाश शुरू कर दी, लेकिन कैदी का कोई सुराग नहीं लग सका था। मामले में लापरवाही बरतने पर छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार जिला जेल नसीबपुर में विचाराधीन कैदी कोटिया की ढाणी (झज्जर) निवासी सुंदर को शनिवार सुबह सीने में दर्द की शिकायत हुई। सीने में दर्द की शिकायत के चलते जेल पुलिस सुंदर और पांच अन्य कैदियों को जांच के लिए सामान्य अस्पताल लेकर आई। जांच के बाद पुलिसकर्मी सभी कैदियों को अस्पताल परिसर में खड़े वाहन में बैठा रहे थे। इस दौरान सुंदर झटके से पुलिस कर्मी से खुद को छुड़वा कर थोड़ी दूरी पर पहले से स्टार्ट खड़ी अपाची बाइक पर बैठ कर स्टेट हाईवे की तरफ फरार हो गया। जेल पुलिस ने इसकी जानकारी अस्पताल में स्थित पुलिस चौकी व जेल प्रशासन को दी। सूचना मिलने पर अस्पताल पुलिस चौकी इंचार्ज सज्जन सिंह ने वीटी कर नाकेबंदी करवाई और कैदी का पीछा कर उसे खोजने का प्रयास किया, लेकिन कैदी का कोई सुराग नहीं लगा। जिला जेल अधीक्षक संजय सिंह ने बताया कि सुंदर सिंह पर धारा 302, 307 व 148 के तहत मामले दर्ज हैं। उसे मार्च 2011 में जिला जेल नसीबपुर में भेजा गया था। शनिवार सुबह सुंदर ने जेल प्रशासन को सीने में दर्द की शिकायत की थी। इसी के चलते उसे सुबह करीब साढ़े 9 बजे जांच के लिए सामान्य अस्पताल में लाया गया था। जहां से यह कैदी फरार हो गया। एसपी संजय सिंह ने बताया कि मामले में लापरवाही बरतने वाले छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

प्लाट विवाद में युवक का अपहरण 

हरियाणा के रोहतक में महम थाना के अंतर्गत गांव खरकड़ा के तीन युवक प्लाट विवाद में एक युवक को अगवा कर ले गए। रात भर युवकों ने उसे अपने साथ रखा और सुबह अपह्त व्यक्ति घर पहुंच गया। इस बात का पता चलने पर महम पुलिस मौके पर पहुंची और इस बारे में जांच की। पुलिस का कहना है कि मामला रुपयों के लेन-देन का है। इस संबंध में पुलिस ने दो सगे भाईयों सहित तीन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इस मामले में पीड़ित के परिजन पुलिस महानिरीक्षक से भी मिले और महम पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई पर रोष जताया। दो दिन पहले गांव खराकड़ा निवासी सुरेश घर से खाना खाने के बाद घूमने गया था। लेकिन देर रात तक वह वापस नहीं लौटा, जिस पर परिजनों ने उसकी तलाश की। रातभर तलाश करने के बाद सुरेश के बारे में कोई सुराग नहीं मिला। इसके बाद परिजन महम थाना पहुंचे और पुलिस को पूरे मामले से अवगत कराया। सुरेश के भाई राजकुमार ने बताया कि उन्हें शक है कि राजपाल, रामकरण और कृष्ण ने मिलकर सुरेश को अगवा किया है। पुलिस ने इस संबंध में तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। शनिवार सुबह सुरेश संदिग्ध परिस्थितियों में घर लौट आया और उसने परिजनों को बताया कि तीनों ने उसके साथ मारपीट की है। मामले का पता चलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और इस बारे में सुरेश से पता किया। परिजनों ने सुरेश का मेडिकल कराने की बात कही, लेकिन पुलिस ने इंकार कर दिया। जिस पर परिजन ग्रामीणों के साथ मिलकर पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय पहुंचे और इस बारे में महम पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई पर रोष व्यक्त किया। परिजनों का कहना था कि पुलिस आरोपियों को बचाने में जुटी हुई है। जबकि मामले की जांच कर रहे उपनिरीक्षक उमेद सिंह ने बताया कि प्लाट को लेकर विवाद चल रहा था। राजपाल ने सुरेश से ढाई लाख रुपये में प्लाट खरीदा था। बाद में सुरेश ने रजिस्टरी कराने से इंकार कर दिया और पैसे भी नहीं लौटाए।

महिला ने शौचालय में दिया बच्चे को जन्म

हरियाणा के नारनौल में सिविल अस्पताल में स्टाफ की लापरवाही के चलते शनिवार दोपहर करीब तीन बजे एक महिला ने शौचालय में ही बच्चे को जन्म दे दिया। बच्चे और प्रसूता को उसकी सास व वहां मौजूद अन्य महिलाओं द्वारा शौचालय से बिस्तर पर पहुंचाने के बाद भी अस्पताल कर्मचारियों को मामले की भनक तक नहीं लगी। अस्पताल कर्मियों की लापरवाही पर जच्चा-बच्चा वार्ड में मौजूद महिलाओं ने कड़ा रोष प्रकट किया। वहीं महिला डॉक्टर के अनुसार स्टाफ की कमी के कारण दिक्कत आ रही है। डेरोली जाट निवासी कविता (19) पत्नी दिनेश को शुक्रवार शाम चार बजे डिलीवरी के लिए नारनौल के सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। प्रसूता की सास मुन्नी देवी के अनुसार शनिवार दोपहर करीब तीन बजे जब उसकी बहू को ज्यादा दर्द होने लगा तो उसने इसकी शिकायत वहां उपस्थित महिला कर्मचारी से तीन बार की, लेकिन किसी ने उसकी तरफ ध्यान नहीं दिया। उसकी बहू को बाथरुम जाना था। इस पर वह उसे पास के शौचालय में ले गई। जहां कविता ने बच्चे को जन्म दिया। उसकी बहू ने आवाज लगा कर उसे अंदर बुलाया। बच्चे को कपड़े में लपेट कर अन्य महिलाओं की मदद से वह बिस्तर पर ले आई। तब तक भी अस्पताल कर्मचारियों को इसकी भनक तक नहीं लगी थी। अस्पताल कर्मियों की इस लापरवाही पर वहां उपस्थित अन्य महिलाओं ने भी रोष जताया। मुन्नी देवी के अनुसार यहां पर बिस्तर व कर्मचारियों की कर्मी के चलते एक-एक बैड पर दो-दो महिलाओं को लिटाया जाता है। क्या कहती हैं महिला चिकित्सक सिविल अस्पताल की महिला चिकित्सक डॉ. वंदना यादव के अनुसार अस्पताल में कर्मचारियों की कमी है। अभी 30 महिलाओं को डिलीवरी के लिए दाखिल किया गया है, लेकिन देखभाल के लिए मात्र दो स्टाफ नर्स हैं। चिकित्सक के अनुसार कविता की सास मुन्नी देवी को डिलीवरी कक्ष के अंदर मौजूद शौचालय में ही जाने को कहा गया था, लेकिन उन्होंने बात को अनसुना कर दिया और महिला को बाहर के शौचालय में ले गए। चिकित्सक के अनुसार उस समय सभी कर्मचारी अन्य डिलीवरी में व्यस्त थे।