" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: कार्बन मोनो आक्साइड गैस से बेहोश हुआ था परिवार: मैनेजर

Jan 21, 2014

कार्बन मोनो आक्साइड गैस से बेहोश हुआ था परिवार: मैनेजर

फतेहाबाद। बत्रा धर्मशाला में शनिवार सुबह संदिग्ध हालत में बेहोश मिले धर्मशाला मैनेजर व उसके परिवार के सदस्यों की कहानी में नया मोड़ आ गया है। शनिवार को जहां इस परिवार के जहर खाने की बात की जा रही थी, वहीं रविवार को मैनेजर ने होश में आने के बाद संदिग्ध-सा बयान देकर पूरे मामले में को उलझा दिया है। रविवार को पुलिस को दिए बयान में मैनेजर शिवकरण ने कहा है कि उसने रात 12 बजे कमरे में लोहे के तसले में कोयले जलाया था। उससे निकली कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस की चपेट में उनका परिवार आ गया और सभी बेहोश हो गए। मैनेजर का कहना है कि रात को 12 बजे उसने आग जलाई थी और डेढ़ उसके पुत्र की तबियत खराब हो गई। मैनेजर का यह बयान किसी को नहीं पच रहा है, क्योंकि मैनेजर के बेटे प्रकाश के मुंह से झाग निकल रहा था और नाक से खून भी बह रहा था। कमोवेश यही स्थिति परिवार के अन्य सदस्यों की थी। बड़ी बात यह है कि तसले में रखी आग सारी रात नहीं जल सकती। ऐसे में कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस बनने में काफी समय लगा होगा। संदेह का एक पहलू यह भी है कि कमरे की खिड़की खुली थी, जिससे गैस के बाहर जाने का रास्ता भी था। फिलहाल पुलिस उसके बयान के आधार पर कार्रवाई कर रही है, लेकिन फिर भी इस हादसे में उसके मृत बेटे का विसरा जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मालूम हो कि बत्रा धर्मशाला में राजस्थान के जिला चूरू के लुहारू निवासी शिवकरण मैनेजर है। वह यहां पर पत्नी कौशल्या तथा दो बेटों प्रकाश व विकास के साथ रहता है। शनिवार सुबह सभी कमरे में सोए थे। जब धर्मशाला का सफाई कर्मी वहां आया तो मैनेजर को ना पाकर वह धर्मशाला में स्थित मैनेजर के कमरे में गया। कमरे में मैनेजर व उसके परिवार के सदस्य बेहोश पड़े थे। बंटी ने धर्मशाला से जुड़े लोगों को मौके पर बुलाया। पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर सभी को सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां पर शिवकरण के बड़े बेटे प्रकाश ने दम तोड़ दिया। ===================================== नहीं आ सकते झाग: सीएमओ इस बारे में सीएमओ डा.सूरजभान कम्बोज से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि शिवकरण ने जो ब्यान दिया है, उस स्थिति में बच्चे के मुंह में झाग नहीं आ सकते। उन्हाेंने कहा कि पहली नजर में मामला जहर का ही प्रतीत होता है। बाकी बात विसरा रिपोर्ट से ही स्पष्ट हो पाएगी। ======================== विसरा रिपोर्ट का इंतजार: एसएचओ एसएचओ गौरव शर्मा ने बताया कि फिलहाल मैनेजर ने ब्यान दिया है कि कमरे में रखी अंगीठी के धुंए से उनकी यह हालत हुई है। उसके बेटे की विसरा रिपोर्ट मधुबन जांच के लिए भेजी गई है, रिपोर्ट आने के बाद ही मामले का खुलासा हो सकेगा।

No comments :

Post a Comment

international travel insurance in india, travel insurance india to usa, travel insurance from india, payday loans uk, dtravel insurance in india, international travel insurance in india