" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: haryana news live
Showing posts with label haryana news live. Show all posts
Showing posts with label haryana news live. Show all posts

Aug 18, 2013

पटौदी खानदान का अफगानिस्तान से जुड़ा ये रहस्य आपको नहीं होगा पता!

हम आपको बताने जा रहै हैं पटौदी खानदान से जुड़ी कुछ ऐसी खास बातें जिसने इस परिवार को हरियाणा में खास बना दिया।
मंसूर की उम्र महज़ 11 साल ही रही होगी जब उन्हें पटौदी घराने के 9 वें नवाब की पगड़ी पहनाई गई। उनके पिता की पोलो खेलते हुए दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी।
अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच खेलने के लिए उन्हें 16 की उम्र में ही चुन लिया गया। 20 के होते-होते उनकी प्रतिभा काफ़ी निखर चुकी थी। लेकिन, एक कार एक्सीडेंट में उनकी दाईं आंख को छीन लिया।  साल 61 में टाईगर को महज़ 21 साल और 77 दिन की उम्र में ही भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया। इतनी कम उम्र में तब तक किसी ने भी ये ज़िम्मेदारी नहीं ली थी।
मंसूर अली के पिता इफ़्तिकार को शिकार का ख़ास शौक नहीं था लेकिन उनके नाना और नवाब भोपाल हमीदुल्ला खां शिकार खेलते थे। 16 बरस की उम्र में पहली बार नाना के साथ जवान हो रहे मंसूर अली शिकार पर पहुंचे और नतीजा रहा पहली गोली और जंगल का टाइगर ढेर। भोपाल के जंगलों में मंसूर अली ने 240 mm की बंदूक से यह शिकार किया।
नाना हमीदुल्ला ने खुश होकर अपने नवासे को एक सुपर प्रीमियम हालेंड एंड हॉलेंड राइफल तोहफ़े में दी।
भोपाल में पटौदी पैलेस जिसे अहमदाबाद हाउस के नाम से भी जाना जाता है की दीवारों पर पटौदी खानदान के शिकार के शौक दिखाई देते  हैं। यहां 9 सांभर  3 चीतल, 2 चिंकारा के सर सजाए गए हैं। इसके साथ ही 5 भैसे के सिर भी हैं। इस महल की सीढ़ियों की रैलिंग में सांभर और बारहसिंगे के सींगो का इस्तेमाल है।
इफ्तिखार अली खान पटौदी उर्फ आई ए के पटौदी हरियाणा में पटौदी स्टेट के आठवें नवाब सैफ अली खान के दादा थे और भारत के महान क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी के पिता।

इफ्तिखार अली खान पटौदी का नाम भी दुनिया के महान क्रिकेटरों में शुमार है। वह 1946 में इंग्लैंड एशेज टूअर पर गए भारतीय टीम के कैप्टन रह चुके हैं।

हालांकि मंसूर अली खान सारी जिंदगी एक टाइगर की तरह जिए लेकिन उनका दिल एक आम आदमी की ही तरह था। यह बात इससे जान सकते है कि पटौदी के सिर्फ एक आंख थी और वह भी उन्होंने दान कर दी।
इससे पहले पटौदी की दायीं आंख एक कार हादसे में हमेशा के लिए खराब हो गई थी। तब वो 20 साल के थे।
कैसे पटौदी के नवाब बने
सैफ के पूर्वज अलफ खान अच्छे लड़ाके थे। १८०० के समय उन्होंने परिवार सहित खुद को लॉर्ड लेक के समक्ष प्रस्तुत किया और अंग्रेजों की तरफ से होलकर और मराठों से लड़े। इसके इनाम स्वरूप लॉर्ड लेक ने 1804 में उनके बेटे फैज तलब खान को पटौदी की जागीर दी। उन्हें न्यायिक और रेवेन्यू अधिकार भी दिए। उस समय इसका क्षेत्रफल 137 स्क्वायर किलोमीटर था। इससे वह नवाब कहलाने लगे। 1831 में फैज तलब खान की मृत्यु हो गई। उनके बेटे अकबर अली खान पटौदी के दूसरे नवाब बने। वे आधुनिक पटौदी के जन्मदाता कहे जाते हैं। 1917 में पटौदी के आठवें नवाब इफ्तिखार अली खान क्रिकेट के प्रसिद्ध खिलाड़ी रहे और इंग्लैंड और भारत के लिए खेले। 1948 में रियासत का भारत में विलय हो गया। 1952 में उनकी मृत्यु के बाद उनके बेटे मंसूर अली खान नवाब बने। उनकी मृत्यु 22 सितंबर 2011 को हुई।

 532 साल पहले अफगानिस्तान से आया था परिवार
सैफ के पूर्वज 532 साल पहले अफगानिस्तान से भारत आए थे। परिवार भड़ैंच कबीले से ताल्लुक रखता था। परिवार में पहले शासक सरदार शम्स खान थे, जिनका जन्म 1190 और मृत्यु 1280 में हुई थी। 1480 में दिल्ली के अफगानी सुल्तान ने भडैंच कबीले को दिल्ली के आसपास मेवाती लोगों को काबू करने के लिए बुलाया था।

पटौदी के पिता और इफ्तिखार अली खान की शादी भोपाल के अंतिम नवाब हमीदुल्लाह खान की छोटी बेटी साजिदा सुल्तान से सन 1939 में हुई थी। 
नवाब हमीदुल्लाह खान की दो बेटियां ही थीं, इसलिए उन्होंने अपनी बड़ी बेटी आबिदा सुल्तान को उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। लेकिन आबिदा बंटवारे के बाद सपरिवार पाकिस्तान चली गईं तो सरकार ने नवाब हमीदुल्लाह खान की सारी संपत्ति अपने कब्जे में ले ली। इसके खिलाफ साजिदा सुल्तान कोर्ट चली गईं और उन्होंने पिता की संपत्ति पर अपना दावा पेश किया।

Aug 17, 2013

travel insurance भारत के हॉट 10 विज्ञापन, सेक्स के कारण हुए बैन Click For Read More

विज्ञापन जिनसे मच गया बवाल

हमारी रोजमर्रा की जिंदगी पर विज्ञापनों का जबरदस्त असर दिखाई देता है। कुछ प्रोडक्ट तो हम केवल विज्ञापन देखकर ही खरीद लेते हैं, कुछ विज्ञापन इतने अच्छे होते हैं जो देखने और सुनने में बहुत भाते हैं लेकिन कुछ विज्ञापन ऐसे होते हैं जो अपने साथ एक कंट्रोवर्सी लेकर आते हैं।

'18 अगेन'

2012 में एक विज्ञापन आया, जिसका नाम था '18 अगेन'। '18 अगेन' महिलाओं के प्राइवेट पार्ट को टाइट करने वाले जैल का विज्ञापन है। इसे बनाने वाली भारतीय कंपनी अल्ट्राटेक का दावा था कि यह ज़ैल महिलाओं को एंपावर (सशक्तीकरण) करेगी।


इस विज्ञापन में एक संयुक्त परिवार में सबके सामने एक जोड़े को नाचते दिखाया गया जिसमें महिला गाती है- आई फील लाइक ए वर्जिन, इट फील्स लाइक द फर्स्ट टाइम। घर के सबसे बुजुर्ग दंपति दोनों को नाचते देखते रहते हैं। विज्ञापन के अंत में उस बुजुर्ग जोड़े को प्रोडक्ट को ऑनलाइन ऑर्डर करते हुए दिखाया जाता है।

अल्ट्राटेक का अपने इस विज्ञापन के बारे में कहना था कि यह भारत में महिलाओं की जिंदगी को बदल देगा। लेकिन, भारत में इस विज्ञापन की सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर बहुत आलोचना हुई। ट्विटर पर महिलाओं का यह कहना था कि भारतीय समाज की महिलाओं की असुरक्षा की भावना को कैश करने के लिए इस प्रोडक्ट को बनाया गया था।

ह्वाट एन एस!


यह भारत के घरेलू जींस ब्रांड डेनिम का विज्ञापन था। इसने अपने 'फ्लाइंग मशीन' सीरीज की जींस विज्ञापन में एक महिला को टाइट जींस में दिखाया गया जिसके बुटोक्स के पास यह टैगलाइन था- ह्वाट एन एस!।

2011 में भारतीय बाजार में रेडीमेड गारमेंट्स सेक्टर में कई विदेशी कंपनियां आकर्षक ऑफर्स और विज्ञापन के साथ उतर रही थी। ऐसे में भारतीय कंपनी डेनिम ने यूथ को आकर्षित करने के लिए इस विज्ञापन को लॉन्च किया था। इस विज्ञापन में यह दिखाने की कोशिश की गई है कि महिलाएं किस तरह से अपने फिगर को अब सहज तरीके से स्वीकार कर रही हैं।


'ये तो बड़ा टोइंग है'


2007 में अमूल माचो का 'ये तो बड़ा टोइंग है' विज्ञापन इतना विवादास्पद हुआ कि भारत के सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने इसे बैन कर दिया था।10 करोड़ की लागत से बने इस विज्ञापन में एक गृहणी को गांव में तालाब किनारे अपने पति का अंडरवियर धोते समय सेक्सुअल फैंटेसी करते हुए दिखाया गया था।
पहले इसे एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया ने इसे पब्लिक को देखने के लिए पास कर दिया। इसमें गृहिणी की भूमिका में मॉडल सना खान थीं।
बैन करते समय सूचना और प्रसारण मंत्रालय का कहना था कि यह विज्ञापन अभद्र और अश्लील है।

अजगर के साथ हुए न्यूड


यह भारतीय विज्ञापन के इतिहास में सबसे ज्यादा विवादास्पद हुआ। 1995 में भारत में फुटवियर ब्रांड टफ को बहुत कम लोग जानते थे लेकिन इस विवादास्पद विज्ञापन से यह ब्रांड भी मशहूर हो गया।टफ भारतीय बाजार में तेजी से अपनी पहचान बनाना चाहती थी और उसने हॉट मॉडल्स मिलिंद सोमण और मधु सप्रे को लेकर विज्ञापनों का कैंपेन चलाया।

बंगाली बाला की सेक्सुअल फैंटेसी

पश्चिम बंगाल की एक महत्वाकांक्षी कंपनी को यकीन था कि विज्ञापन में सेक्स का इस्तेमाल करने से उसका प्रोडक्ट हिट होगा और शायद वह अपने मकसद में कामयाब हुआ भी। इस विज्ञापन का अनसेंसर्ड वीडियो यूट्यूब पर है और इसे लाखों लोग देख चुके हैं।

बोल्ड और सेक्सी विज्ञापन

90 के दशक में विज्ञापन की दुनिया में ऐसे क्रांतिकारी कदम दिखे जिसमें प्रोडक्ट को बेचने के लिए बोल्ड और सेक्सी होने के फॉर्मूले को आजमाया जाने लगा। इसी कड़ी में जब अक्टूबर 1991 में कामसूत्र ने अपना पहला विज्ञापन जारी किया तो बवाल मच गया।


इस सेक्सुअल विज्ञापन में सेक्सी पूजा बेदी और सुपरमॉडल मार्क रॉबिंसन को झरने से गिरते पानी के नीच नहाते दिखाया गया। इतने बोल्ड और सेक्सी विज्ञापन को उस समय के भारतीय दर्शकों के लिए उपयुक्त नहीं माना गया।

कॉफी बेचने के लिए उत्तेजकता का सहारा


एमआर कॉफी के ऐड में पहली बार मलाइका अरोड़ा और अरबाज खान एक साथ आए। इस ब्रांड की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने कंपनी ने उत्तेजकता का सहारा लिया।इस विज्ञापन में मलाइक और अरबाज को एक-दूजे की बांहों में समाए हुए दिखाया गया जिसके साथ टैगलाइन था- 'रियल प्लेजर कांट कम इन एन इंस्टैंट'।
 

travel insurance पाकिस्तान जेल में बंद भारतीय कैदियों ने मांगी मौत

पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में 11 भारतीय नागरिकों ने भारत सरकार से मौत मांगी है। उन्होंने भारतीय मीडिया को संबोधित एक पत्र जम्मू एवं कश्मीर के रहने वाले पुराने साथी कैदी विनोद साहनी को भेज कर उक्त मांग की है।

पत्र पाने वाले विनोद साहनी को कुछ साल पहले पाकिस्तानी जेल से रिहा किया था। पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद 11 कैदियों के हस्ताक्षरित इस पत्र को कुलदीप कुमार ने लिखा है।इसका खुलासा भाजपा के जम्मू-कश्मीर प्रभारी व राज्य सभा सांसद अविनाश राय खन्ना ने शुक्रवार को होशियारपुर में किया।



खन्ना ने बताया कि पाकिस्तानी जेलों में बंद भारतीय नागरिक बहुत दयनीय जीवन जी रहे हैं। पत्र लिखने वाले कैदियों ने बताया है कि पाकिस्तानी जेल में भारतीय कैदियों के साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है।पिछले कुछ समय में पाकिस्तानी जेलों में तीन भारतीय नागरिकों की हत्या इस तथ्य को साबित करता है। पत्र लिखने वाले कैदियों ने उनके लिए मौत की मांग करते हुए कहा है कि उनके लिए मौत जरूरी है।

उन्होंने भारत सरकार से आग्रह किया है कि उन्हें गोली मार कर मार देने के लिए पाकिस्तान सरकार को अधिकृत कर दें। इन कैदियों का मानना है कि अगर वे रिहा भी किए तो पुनर्वास के लिए उनके पास कोई जगह नहीं है।पत्र में जेल में बंद 17 पुरुषों और 4 महिलाओं का उल्लेख किया गया है जो लगभग पागल हो चुके हैं। उन्हें तो उनके नाम तक याद नहीं हैं। पत्र में लिखा है जो भारतीय कैदी मौत मांग कर रहे हैं, उन्हें आशंका है कि उनका हश्र भी वैसा ही होने वाला है।खन्ना ने कहा कि पाकिस्तान में भारतीय दूतावास और दोनों देशों का संयुक्त न्यायिक आयोग इस मामले में कुछ भी नहीं कर रहा है।सांसद ने कहा कि वह इस मुद्दे को सरकार की जानकारी में लाने के लिए भारत के विदेश मंत्री को पत्र की प्रति भेज रहे हैं। वह इस पत्र के मुद्दे को राज्यसभा में उठाएंगे।

bad credit loans, 0 interest credit cards, payday loans, bad credit loan, bad credit payday loans, long term loans, debt consolidation, debt consolidation loans, debt consolidation loan

आसाम से लाया पत्नी, हत्या कर हुई फरार

रेवाड़ी। गांव सुठानी में वीरवार शाम पलटा मारकर पति की हत्या कर आसाम निवासी महिला फरार हो गई। पुलिस ने मृतक की मौसी की शिकायत पर फरार पत्नी रूपा के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम करवाया।
जांच अधिकारी कसौला थाना प्रभारी के अनुसार सुठानी गांव निवासी सोहन लाल ने लगभग 8-9 महीने पहले आसाम निवासी महिला रूपा को लाकर उससे शादी की थी। कुछ दिनों से दोनों में तकरार चल रही थी। वीरवार शाम को सोहन लाल नशे में घर आया था। घर आने पर पति पत्नी में कोई विवाद हो गया, जिसके चलते पत्नी ने पलटा मारकर पति को गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसके बाद वह मकरा बंद करके फरार हो गई।

सीएम के घर के पास ताबड़तोड़ फायरिंग

रोहतक। मुख्यमंत्री निवास के पास शूज शोरूम के मालिक ने पुराने विवाद के चलते एक युवक पर ताबड़तोड़ फायर कर दिए। युवक को चार गोली लगी और वह लहूलुहान होकर वहीं गिर गया। बाद में शोरूम मालिक वहां से फरार हो गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल को पीजीआई में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस द्वारा सूचना मिलने पर घायल के परिजन पीजीआई पहुंच गए। बाद में सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल ने मौके पर पहुंचे घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।
पुलिस के अनुसार वीरवार देर शाम गांव खरावड़ निवासी कुलदीप उर्फ कुक्का सामान खरीदने के लिए मुख्यमंत्री के घर के पास स्थित एक शोरूम पर आया था। सामान खरीदने के दौरान किसी पुराने विवाद की वजह से कुलदीप और शोरूम मालिक पवन के बीच कहासुनी हो गई, जिस पर पवन ने रिवाल्वर निकालकर कुलदीप पर फायरिंग शुरू कर दी। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग वहां एकत्रित हो गए और कुलदीप को पीजीआई में भर्ती कराया। पुलिस ने घायल के बयान पर आरोपी शोरुम मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

मंत्रीजी के सिर पर डीसी का छाता, और इधर बच्चे भीगे बारिश में


 स्वतंत्रता दिवस पर शिवाजी स्टेडियम में आयोजित जिलास्तरीय समारोह में बिजली मंत्री कैप्टन अजय यादव मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे। समारोह के दौरान बारिश भी हो रही थी। बारिश के कारण कार्यक्रम सुबह 9 बजे से लेकर 10:05 बजे तक चला। कार्यक्रम के आखिर में राष्ट्रगान गाया गया।
राष्ट्रगान के समय बच्चे मैदान में तो वहीं मंत्री से लेकर सभी अधिकारी मंच पर बारिश से बचकर खड़े थे। कार्यक्रम के बाद जब मंत्रीजी जाने लगे तो डीसी समीरपाल सरो ने खुद छाता उठाकर उनको बारिश से बचाया और गाड़ी तक छोड़कर आए। वहीं, बच्चे बारिश में भीगते रहे और इधर-उधर छत के नीचे छुपकर खुद को बचाया। बच्चों के लिए मैदान में तिरपाल आदि की कोई व्यवस्था नहीं थी।

car insurance शोरूम संचालक ने कपड़े खरीदने आए खरावड़ के प्रापॅर्टी डीलर को मारी 8 गोलियां, गंभीर car insurance


car insuranceरोहतक. शहर में सुरक्षा के लिहाज से अतिसंवेदनशील पॉश इलाके डी-पार्क के नजदीक शोरूम संचालक ने कपड़े खरीदने आए खरावड़ गांव के प्रॉपर्टी डीलर 32 वर्षीय कुलदीप को गोलियों से भून दिया। गुरुवार रात करीब साढ़े नौ बजे एक के बाद एक आठ गोली लगने से युवक सड़क पर गिर पड़ा।car insurance
उसे पीजीआई में दाखिल कराया गया है, जहां हालत गंभीर बनी हुई है। वारदात के पीछे शोरूम के किराए को लेकर चल रहे विवाद को माना जा रहा है, लेकिन पुलिस घायल के होश में आने या हमलावर संचालक झ\"ार जिले के गांव टांडाहेड़ी निवासी पवन के पकड़े जाने से पहले कुछ भी कहने के लिए तैयार नहीं है।

रात करीब नौ बजकर 40 मिनट पर सीएम हाउस के बाहर तैनात पुलिस को मेडिकल मोड़ की तरफ सड़क किनारे कपड़े व जूते के शोरूम के बाहर गोली चलने की आवाज सुनाई दी। पुलिस मौके पर पहुंची। घायल खरावड़ निवासी कुलदीप सड़क पर गोली लगने से तड़पता मिला। पुलिस की एक टीम ने उसे पीजीआई में दाखिल कराया।car insurance
पॉश इलाके में फायरिंग से पुलिस प्रशासन सकते में आ गया। खुद एसपी राजेश दुग्गल, डीएसपी सुमित कुमार व थाना प्रभारी नारायण चंद मौके पर पहुंचे। घायल युवक के दोस्त खरावड़ निवासी कर्मबीर ने पूछताछ में बताया कि सेक्टर एक निवासी बलजीत सिंह ने अपना शोरूम किराए पर दे रखा है, जिसे झ\'जर जिले के गांव टांडाहेड़ी निवासी पवन दलाल ने ले रखा है, जहां कपड़े व जूतों का शोरूम बना हुआ है।
गुरुवार शाम को वह अपने दोस्त कुलदीप के साथ शोरूम के ऊपर बने जिम में आया। कसरत करने के बाद सीढिय़ों से नीचे वापस आ गए और शोरूम पर जाकर कपड़े खरीदने लगे। पुराने विवाद को लेकर पवन व कुलदीप के बीच कहासुनी हो गई, जो बाद में हाथापाई में बदल गई। बाहर आकर पवन ने कुलदीप car insuranceपर लाइसेंसी रिवाल्वर से फायरिंग शुरू कर दी। इसमें गोली कुलदीप के हाथ, पैर, कंधे व पेट में लगी।car insurance

car insurance थानेदार व हवलदार से डीएसपी ने की आधा घंटा पूछताछ car insurance



रोहतक. सदर थाने के थानेदार ((एसआई)) व हवलदार द्वारा सीआईए स्टाफ की धौंस देकर एमडीयू के ला विभाग के छात्र व हेल्थ विवि की एमबीबीएस की छात्रा से 12 हजार रुपए वसूलने के कथित मामले की जांच शुरू हो गई है। शुक्रवार को डीएसपी पुष्पा खत्री ने दोनों आरोपियों को कार्यालय में तलब किया और आधा घंटा उनसे पूछताछ की। हालांकि, दोनों आरोपियों ने मामले से पल्ला झाड़ लिया है। उधर, पीडि़त पक्ष अपनी शिकायत पर अडिग है।

शुक्रवार दोपहर को डीएसपी ने दोनों कर्मचारियों से अलग अलग से बातचीत की। सूत्र बताते हैं कि पूछताछ में दोनों पुलिस कर्मचारियों ने मामले से अनभिज्ञता जताई है। मामले की स\'चाई जानने के लिए अब आरोपियों की शिनाख्त के लिए पीडि़त पक्ष को बुलाया जाएगा। गौरतलब है कि एसपी को दी शिकायत में कानून के छात्र ने बताया कि 11 अगस्त को वह और उसकी दोस्त एमबीबीएस छात्रा मेडिकल मोड़ पर कमरे में पढ़ाई कर रहे थे।
सदर थाने के एसआई व हवलदार कमरे पर पहुंचे और धमकी देने लगे। आरोप है कि पुलिस कर्मचारियों ने उनसे 10500 रुपए छीन लिए और एटीएम से भी 1500 रुपए निकाल लिए। बुधवार को न्याय के लिए पीडि़त पक्ष एसपी से मिला और अपना पक्ष रखा। डीएसपी पुष्पा खत्री का कहना है कि दोनों पक्षों के तथ्य देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। फिलहाल जांच जारी है।

पीजीआई में डाक्टर से फिर मारपीट, हड़ताल car insurance


रोहतक. पीजीआई में मरीज के परिजनों द्वारा एक बार फिर पीजी डाक्टर से मारपीट के बाद हंगामा खड़ा हो गया। घटना के बाद रोषस्वरूप पीजी डाक्टरों ने काम छोड़कर हड़ताल कर दी। इमरजेंसी समेत पूरे पीजीआई की सेवाएं बाधित होने से प्रबंधन के हाथ पांव फूल गए। देर रात डाक्टरों ने इमरजेंसी के बाहर प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी व खुद की सुरक्षा की मांग की।
रात दो बजे तक पीजीआई के डायरेक्टर डा. चांद सिंह ढुल व चिकित्सा अधीक्षक डा. अशोक चौहान पीजी डाक्टरों को समझाने में जुटे रहे। उधर, डाक्टरों के साथ मारपीट की बढ़ रही घटनाओं के चलते रेजिडेंट डाक्टर्स व एचसीएमएस एसोसिएशन ने भी हड़ताल को समर्थन दिया है। हड़ताल होने से देर रात मरीजों को निजी अस्पतालों का रूख करना पड़ा। हड़ताल के चलते इमरजेंसी में भी इलाज नहीं हो सका।

ड्रिप लगाने को लेकर हंगामा
गांव खांडा ((सोनीपत)) निवासी बिंदु ((22)) को जहरीला पदार्थ निगलने के कारण शुक्रवार शाम को पीजीआई की इमरजेंसी के कमरा नंबर-6 में दाखिल कराया गया। कुछ देर बाद बिंदु के हाथ में लगाई गई ड्रिप निकल गई। शाम 7.30 बजे परिजनों ने ड्यूटी पर तैनात मेडिसिन के पीजी डाक्टर को ड्रिप लगाने के लिए कहा। डाक्टर ने इस बारे में नर्स से बात करने के लिए कहा तो गुस्साए परिजन डाक्टर के साथ मारपीट पर उतर आए। करीब आधा घंटा तक चले हंगामे के बाद परिजन पीजीआई से गायब हो गए।
उधर, रोषस्वरूप पीजी डाक्टर काम छोड़कर हास्टल चले गए। पीजीआई में कुछ ही देर में यह खबर आग की तरह फैल गई। करीब एक घंटे में पीजी डाक्टरों ने वार्डों में घूमकर हड़ताल की सूचना दी। इसके बाद सभी डाक्टर अपने हास्टल चले गए। उधर, सूचना मिलने पर पीजीआई के डायरेक्टर, चिकित्सा अधीक्षक व पुलिस कर्मचारी मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में प्रबंधन ने अन्य डाक्टरों को बुलाया।

बिंदु को वार्ड नंबर 10 में शिफ्ट कर दिया गया है। डाक्टरों का कहना है कि उसने जहरीला पदार्थ निगल रखा है। वार्ड में पुलिस तैनात कर दी गई है। बिंदु झ\'जर के गांव बहराणा में शादीशुदा है। मामले को देखते हुए बहराणा से भी काफी संख्या में परिजन पीजीआई पहुंचे।

car insuranceससुरालियों पर लगाया अपहरण व लूटपाट का आरोप car insurance

car insuranceवरिष्ठ संवाददाता, रोहतक
कोर्ट में पेशी पर आए युवक ने अपने ससुरालियों पर अपहरण कर लूटपाट किए जाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
हांसी निवासी वीरेंद्र ने बताया कि उसकी शादी करीब तीन साल पहले रैनकपुरा निवासी वीना के साथ हुई थी। शादी के डेढ़ साल बाद उसने उनके खिलाफ दहेज का केस कर दिया था। इसी मामले में बुधवार को वह अपनी मां के साथ कोट में पेशी पर आया हुआ था। पेशी के बाद जब वापस जाने लगा तो पुराने बस स्टैंड पर ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे अगवा कर लिया। आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और पांच हजार रुपये की नकदी, मोबाइल व एटीएम कार्ड छीन लिया।car insurance
पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी पत्‍‌नी वीना के अलावा अमित, सुमित, राजबीर, राजल, राहुल, विक्की, संजय व निक्की के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए एक आरोपी राजकुमार को गिरफ्तार कर लिया है।car insurance

Aug 16, 2013

JOKE शराब के 5 फायदे और 1 नुकसान : CLICK TO READ MORE

1: शराब व्यक्ति की नैसर्गिक प्रतिभा को बहार निकालती है जैसे कोई अच्छा डांसर है लेकिन अपनी शर्म की वजह से लोगो के सामने नहीं नाच पाता है तब दो घूंट अन्दर जाते ही जबरदस्त नाच का मुजाहिरा करता है !!
.
2: शराब इंसान को एक अच्छा शायर भी बनाने की क्षमता रखती है !!
.
3: शराब व्यक्ति के आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा देती है और इंसान खुद को अत्यंत ताकतवर समझने लगता है - ख़ास कर अपने पत्नी के सामने "बोलने" लगता है !!
.
4: शराब व्यक्ति की भाषाई भिन्नता को कम कर देता है, जो लोग अंग्रेजी नहीं भी जानते हैं, फर्राटेदार अंग्रेजी का प्रदर्शन करते हैं !!
.
5: शराब व्यक्ति को दिलदार बनाती है - कंजूस से कंजूस व्यक्ति भी दो घूंट अन्दर जाते ही किसी सल्तनत के बादशाह की तरह व्यवहार करने लगता है और होटल/रेस्टोरेंट के बैरा और दरबान को नोटों से खुश कर देता है !!
.
.
और अब शराब का 1 नुकसान :
.
ये हमें गैरो के करीब तो लाती है लेकिन अपनों से दूर कर देती है !!

प्रणब मुखर्जी ने 11 दोषियों की फांसी की सजा पर लगाई अंतिम मुहर Click for Full Story

दया याचिकाएं रद करके रिकार्ड बना रहे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एक बार फिर 11 दया याचिकाओं को खारिज कर उनको मिली फांसी की सजा पर अंतिम मुहर लगा दी है। इसके बाद वह दिवंगत राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा द्वारा रद की गई 16 याचिकाओं से भी आगे निकल गए हैं। अब तक के अपने कार्यकाल में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 17 दया याचिकाओं को रद कर दोषियों की फांसी की सजा पर अंतिम मुहर लगा दी है।
जिन याचिकाओं को राष्ट्रपति ने खारिज किया है उसमें कनार्टक में रेप के बाद हत्या के दो दोषी शिवू और जादेस्वामी भी शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रपति के पास अब कोई भी दया याचिका निलंबित नहीं पड़ी है। 2001 के इस मामले में कर्नाटक हाईकोर्ट ने वर्ष 2005 में निचली अदालत से मिली फांसी की सजा को सही ठहराते हुए इस पर मुहर लगाई थी। वर्ष 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने भी इस पर अपनी मुहर लगा दी थी। अब राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज हो जाने के बाद इन्हें फांसी लगना पूरी तरह से तय हो गया है।
गौरतलब है कि फरवरी और मार्च 2013 के बीच, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी वीरप्पन के सहयोगी सायमन, गननप्रकाश, मदैया, बिला वंद्रन की दया याचिका को खारिज कर दिया था। इन पर 22 लोगों की हत्या का जुर्म साबित हुआ था, जिसपर सुप्रीम कोर्ट ने इन्हें फांसी की सजा दी थी। इसके अलावा पूरे परिवार की हत्या के दोषी सुरेश और रामजी समेत गुरमीत सिंह और जफर अली की भी दया याचिका को राष्ट्रपति ने रद कर दिया था। इसके अलावा हरियाणा के विधायक समेत उनके पूरे परिवार की हत्या के दोषी की दया याचिका को राष्ट्रपति ने खारिज कर दिया था।

ओह! तो नंबर 3 ने बर्बाद कर दी एक महान टीम की हैसियत

नई दिल्ली। दशकों के अपने सुनहरे दौर के बाद आज कंगारू टीम उस कगार पर है जहां उसकी तुलना बांग्लादेश जैसी टीमों से की जाने लगी है। जिस टीम के सामने हर विरोधी टीम कभी थर्राया करती थी आज वही टीमें उस ऑस्ट्रेलियाई टीम को आंखें दिखाती हैं। वहीं, मौजूदा एशेज सीरीज में जो कुछ हो रहा है उससे थोड़ी बहुत बाकी इज्जत भी इस टीम ने गंवा दी। वैसे कंगारू टीम के बल्लेबाजी क्रम में एक ऐसा खोट पैदा हो गया है जो शायद उनकी असफलता का इस समय सबसे बड़ा कारण बना हुआ है। क्या है यह चूक, आइए जानते हैं..
वह ऑस्ट्रेलियाई टीम जो कभी अपने टॉप ऑर्डर के दिग्गज रूप के लिए जानी जाती थी वह आज बल्लेबाजी में एक ऐसे क्रम पर संघर्ष कर रही है जिसके बारे में कभी किसी ने सोचा तक नहीं था। यह क्रम है नंबर तीन का। जी हां, तीसरे नंबर पर कंगारू टेस्ट टीम में हमेशा टीम का सबसे इन फॉर्म और शानदार बल्लेबाज रहा है, इयन चैपल से डेविड बून तक और जस्टिन लैंगर से लेकर रिकी पोंटिंग तक हमेशा इस नंबर पर एक ऐसा दिग्गज रहा जिसने विरोधी गेंदबाजों के पसीने छुड़ाए लेकिन क्या आपको पता है कि ऑस्ट्रेलिया की पिछली 48 टेस्ट पारियों में इस नंबर पर एक भी शतक देखने को नहीं मिला है...आज तक किसी भी टीम ने इस नंबर पर इतना लंबा सूखा नहीं देखा है। ना तो 1880 में ऐसा हुआ जब खतरनाक पिचों पर कंगारू बल्लेबाज संघर्ष कर रहे होते थे और ना ही 60 के दशक में जब कंगारू बल्लेबाज शुरुआत के लिए तरसते थे, कभी ऐसा नहीं कि नंबर तीन पर कोई टीम इतना बेबस दिखी हो। विश्व की बाकी दिग्गज टीमों को तो छोड़ दीजिए, जिंबॉब्वे और बांग्लादेश जैसी टीमों ने भी इतना लंबा सूखा कभी नहीं देखा है।

car insuranceशर्मनाक: बुर्काधारी युवतियों ने पाकिस्तानी झंडे लहराए Click for full story

श्रीनगर । वादी में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान किसी भी गड़बड़ी से निपटने के लिए किए गए कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच कुछ बुर्काधारी युवतियों ने लाल चौकcar insurance से सटे प्रताप पार्क में पाकिस्तानी झंडे लहराए। साथ ही पाकिस्तानी राष्ट्रगीत भी गाया। इसके बाद पार्क की रेलिंग से झंडे बांधकर वहां से निकल गईं। बाद में पुलिस ने दोनों झंडों को वहां से उतार अपने कक्जे में ले लिया। इन युवतियों का संबंध कश्मीर की प्रमुख महिला अलगाववादी संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत से बताया जा रहा है। गौरतलब है कि 14 अगस्त को पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।
पाक ने फिर 16 चौकियों पर बरसाईं गोलियां
श्रीनगर। पिछले चार दिनों में पाकिस्तानी सेना ने नौंवी बार संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए नियंत्रण रेखा से सटे पुंछ जिले के हमीरपुर, बालाकोट और मेंढर समेत 16 भारतीय चौकियों पर मंगलवार रात भर गोलियां बरसाईं। भारतीय सेना ने भी इसका माकूल जवाब दिया। वहीं बुधवार तड़के कुपवाड़ा जिले में जवानों ने घुसपैठ के प्रयास को नाकाम बनाते हुए पाकिस्तान प्रशिक्षित तीन आतंकियों को मार गिराया। सेना के प्रवक्ता एसएन आचार्य ने बताया कि पाकिस्तानीcar insurance सेना की 605 मुजाहिद रेजीमेंट के जवानों ने रात भर भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की। हमले में किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है। गोलीबारी बुधवार सुबह छह बजे तक चलती रही। इस बीच भारतीय सेना के जवानों ने कुपवाड़ा में केरन सेक्टर के बगना इलाके में सीमा पार से स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों के एक दल को आते देखा। जवानों ने आतंकियों को समर्पण करने की चेतावनी देकर car insuranceललकारा। इसके बाद हुए मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार car insuranceगिराया।

बच्चे के शरीर में अपने आप लग जाती है आग car insurance

तीन महीने के राहुcar insuranceल के शरीर में खुद-ब-खुद आग लगने की बीमारी ने चिकित्सा जगत को हैरान कर दिया है। इतनी छोटी सी उम्र में बच्चा इस बीमारी से अब तक चार बार झुलस चुका है। राहुल इस समय चेन्नई के एक अस्पताल में भर्ती है और उसका इलाज चल रहा है। अस्पताल के चिकित्सा विभाग का कहना है कि राहुल शरीर में अनायास आग लग जाने की बीमारी से पीडि़त है। हो सकता है कि शरीर के भीतर बनने वाली गैसों के त्वचा के जरिये बाहर निकलने के कारण खुद-ब-खुद आग लग जाती हो। इससे राहुल के सर और छाती पर गहरे जख्म बन गए हैं। बाल चिकित्सा विभाग के प्रमुख आर नारायण बाबू ने बताया, बच्चे की हालत स्थिर है और उसका इलाज चल रहा है। राहुल को चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है। चेन्नई से सौ किमी दूर विल्लपुरम इलाके का राहुल पहली बार जन्म के नौ दिन बाद ही जल गया था। उसकी मां राजेश्वरी ने बताया, लोगों को लगा कि मैंने जानबूझकर अपने बच्चे को जला दिया है। राहुल के पिता ने कहा, बेटे के इलाज में हमारे पास जो भी था, सब चला गया। हमें हमारी जाति समुदाय से बाहर निकाल दिया गया है। पिछले महीने भी उसके शरीर मेंcar insurance आग लग गई थी। किल्पौक मेडिकल कॉले के बर्न विशेषज्ञ डॉक्टर जे जगन मोहन राहुल की मां के दावों को सच नहीं मानते। उन्होंने कहा, बच्चे में अपने आप आग लग जाना मुमकिन नहीं है। पसीने में निकलने वाले ज्वलनशील पदार्थो का प्रतिशत बहुत कम होता है। यह इतना नहीं होता कि किसी के शरीर में आग लग जाए।

car insurance

bad credit loans, 0 interest car insurancecredit cards, payday loans, bad credit loan, bad credit payday loans, long term loans, debt consolidation, debt consolidation loans, debt consolidcar insuranceation loan car insurance

Aug 15, 2013

Happy Independence Day INDIA car insurance

Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIAcar insurance...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Indecar insurancependence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Day INDIA...................
car insurance
Happy Independence Day INDIA...................
Happy Independence Dcar insuranceay INDIA...................
car insurance

लोगों को पसंद आ रही है 'नेकेड मैरेज' money transfer to india


चीन में 'नेकेड मैरेज' को पसंद करने का चलन बढ़ रहा है। एक सर्वे के मुताबिक करीब 45 प्रतिशत लोगों ने 'नेकेड मैरेज' को पसंद किया है।'नेकेड मैरेज' के तहत लोग घर, कार यानी दहेज और शादी की पार्टी के बिना ही रिश्तों की डोर में बंधते हैं। ऐसा शादी में होने वाले फालतू खर्चे को बचाने के लिए किया जाता है।चीन की एक प्रमुख टैक्सी मीडिया कंपनी टचमीडिया के एक सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे के परिणामों को चीन के वेलेन्टाइन डे (13 अगस्त) पर जारी किया गया।पिछले महीने टचमीडिया ने चीन के बीजिंग और शंघाई जैसे पांच बढ़े शहरों में करीब 15 लाख यात्रियों के बीच नेकेड मैरेज की स्वीकार्यता को लेकर एक सर्वे किया।
सर्वे के मुताबिक 45 प्रतिशत लोगों ने नेकेड मैरेज के विचार को पसंद किया। हांलाकि केवल 30 प्रतिशत लोगों ने ही असल जिंदगी में 'नेकेड मैरेज' की है।साथ ही लगभग 70 प्रतिशत लोगों ने बताया कि वह शादी के बाद अपने कर्ज को भी अपने साथी से बांटने के लिए तैयार हैं।


insurance, youtube, japan news, maruti car insurance,car insurance renewal, trip to india, hotels in sydney, sydney hotels, money transfer to india, forex trading

53 घंटे बाद 'कब्र' से जिंदा निकले तीन जांबाज

झारखंड के निरसा में अवैध खनन में फंसे तीन मजदूरों को 53 घंटे बाद सोमवार को सही सलामत निकाल लिया गया। मजदूरों के मुताबिक भगवान के भजनों और 15 रोटियों ने उन्हें इस दौरान हिम्मत दी।
हर घंटे सदियों की तरह गुजरे। तीनों को पता नहीं था कि बाहर उन्हें बचाने की कोशिशें चल रही थीं। खदान से बाहर निकलने के बाद उन्होंने सभी लोगों से बात की। 

ऐसे चला राहत कार्य
शनिवार और रविवार को राहत कार्य चलाने के बावजूद आशा के अनुरूप परिणाम नहीं मिलने पर कई ग्रामीण मायूस हो गए थे, परंतु आज सुबह करीब 6 बजे से फिर काफी संख्या में कोराडांगाल गांव के वाशिंदे युद्धस्तर पर बचाव कार्य में भिड़ गए थे। आठ मोटर पंपों के जरिए फिर खदान से पानी निकालना शुरू कर दिया गया था।
लगातार पंपों के चलने के कारण खदान का जलस्तर करीब चार फीट तक कम हो गया। पानी कम होने के कारण ग्रामीण मुहाने के पास पहुंच जोर-जोर से आवाज लगाने लगे। उधर खदान में पानी कम होने और बाहर से आ रही धीमी आवाज की सुन फंसे तीनों मजदूरों की भी जान में जान आई। �
इसके बाद मजदूरों ने भी आवाज लगानी शुरू कर दी। उनकी आवाज सुन बचाव कार्य में लगे ग्रामीणों का भी हौसला बुलंद हुआ। इसके बाद बाहर से भी लोगों ने आवाज देनी शुरू कर दी कि हिम्मत मत हारो, तुम सभी बाहर निकाल लिए जाओगे। दोपहर एक बजे तीनों मजदूर मुहाने के पास तक पहुंचने में सफल रहे। उस समय वहां कमर तक पानी था। ग्रामीणों ने उन्हें देखा तो बांस को पानी के अंदर डाला। फिर बांस को पकड़ उन्हें बाहर खींच लिया गया। एक बोरी कोयला काटने की मजदूरी 22 रुपए
मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार उन्हें प्रति बोरा 22 रुपए की मजदूरी देता था। तीन में से दो मजदूर चार-पांच माह से कोयला काट रहे थे, जबकि तीसरा उस दिन पहली बार खदान में उतरा था।

निकले तीनों युवकों ने बताया कि शनिवार की सुबह से रिमझिम बारिश हो रही थी। बारिश के कारण अन्य मजदूर नहीं पहुंचे थे। अगर वे पहुंचते तो भी उनके साथ ही जलमग्न खदान में फंस जाते।  

उन्हें ईश्वर पर था विश्वास
मौत को मात देकर निकले तीनों युवकों ने बताया कि उन्हें ईश्वर पर विश्वास था। वे जानते थे कि ईश्वर की कृपा से वे सकुशल बाहर निकल अपने घर लौट जाएंगे। उन्होंने बताया की शनिवार को भोजन के रूप में कुल पंद्रह रोटियां लेकर कोयला काटने खदान में उतरे थे।ये रोटियां ही जीवित रहने का सहारा थीं। कब तक अंदर रहना पड़ता, नहीं जानता था। बचा-बचा कर रोटियां खाईं पानी नहीं पीया। जिस समय वे बाहर निकले, एक रोटी फिर भी बची रह गई थी।

बंदूक से निकली गोली की तरह चलेगी यह ट्रेन, एक घंटे में 1287 किमी!

न्यूयॉर्क. कार निर्माता टेस्ला के सीईओ एलन मस्क अब ऐसी ट्रेन बनाने जा रहे हैं जो 1287 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी। प्रोजेक्ट का नाम हाइपरलूप है। 
 
कैलिफोर्निया हाईस्पीड रेल अथॉरिटी के मुताबिक यह ट्रेन 2029 तक बन सकती है। तब तक इसकी निर्माण लागत 4.19 लाख करोड़ रुपए हो जाएगी। 
 
(इस ट्रेन की खासियत और दुनिया में चलने वाले सबसे तेज वाहनों की जानकारी के लिए आगे के स्‍लाइड्स पर क्लिक करें)
इसका प्रोटोटाइप बनाने में 2-3 साल लगेंगे। प्रोटोटाइप की लागत 36,804 करोड़ रुपए आएगी। प्रोटोटाइप की सवारी में 1226 रुपए का टिकट लगेगा। 
दिक्कतें भी आएंगी 
 
ट्रेन को मुड़ने के लिए 64 किमी के घुमावदार मोड़ की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में इस ट्रेन का पूरा ट्रैक एकदम सीधा होना चाहिए।
पूरी ट्रेन के बजाए कैप्सूल छोड़े जाएंगे 
 
इसका रूट कैलिफोर्निया के इंटरस्टेट 5 हाइवे के किनारे बनाया जाएगा। यहां 45 से 90 फीट की दूरी पर पिलर बनाए जाएंगे। इन पिलर पर हाइपरलूप के लिए एलिवेटेड ट्यूब लगाई जाएगी। 
 
पहले चरण में दोनों शहरों के बीच सौर ऊर्जा से चलने वाले 70 कैप्सूल चलाने की योजना है। पहले कैप्सूल को लॉन्च करने के 30 सेकेंड बाद दूसरे को छोड़ दिया जाएगा।
यात्रा के दौरान ट्रेन में बैठे लोगों को रोलर कोस्टर की सवारी जैसा एहसास होगा। इसके एक डिब्‍बे की लंबाई 16 फीट होगी। इसमें 4 से 6 लोग बैठेंगे।
पटरियों पर निगेटिव करंट फ्लो होगा। ट्रेन में लगे आर्मेचर में पॉजिटिव करंट बहेगा। इससे इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड बनता है।साथ ही एयरकुशनिंग होती है। यानी ट्रेन पटरियों से थोड़ा ऊपर हवा में चलेगी। इसे मैग्लेव प्रणाली कहते हैं।
 
मैग्लेव ट्रेन पटरियों के ऊपर इसी प्रणाली के तहत चलती है। ट्यूब में हवा का दबाव कम किया जाएगा, ताकि घर्षण से ट्रेन गर्म न हो। ट्रेन का बाहरी हिस्सा एल्यूमिनियम से बना होगा।
एलन मस्क अमेरिकी अरबपति और पे पाल के संस्थापक हैं।
 चीन के शंघाई की मैग्लेव ट्रेन दुनिया में अभी तक सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है। इसकी रफ्तार 501 किलोमीटर प्रति घंटा है।
insurance, youtube, japan news, maruti car insurance,car insurance renewal, trip to india, hotels in sydney, sydney hotels, money transfer to india, forex trading