" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: latest hindi news
Showing posts with label latest hindi news. Show all posts
Showing posts with label latest hindi news. Show all posts

Oct 13, 2013

'एयरहोस्टेस' को बनाता रहा हवस का शिकार 

एक पूर्व एयरहोस्टेस एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी। शादी का वादा कर चार्टर्ड अकाउंटेंट ने उससे यह रिश्ता बनाया था। लेकिन युवती को जब उसकी हकीकत पता चली तो उसके होश उड़ गए। 

26 वर्षीय युवती ने उसके खिलाफ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल भेज दिया।

लखनऊ की रहने वाली युवती ने चार्टर्ड अकाउंटेंट राजीव बग्गा पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि वह पालम विहार में उसके फ्लैट में 2008 से किरायेदार है। लिव इन रिलेशनशिप के तहत वह उसके साथ रहता था। 

बाद में पता चला कि उसने दो शादियां पहले से कर रखी हैं। पुलिस ने उसके बयान के आधार पर राजीव को गिरफ्तार कर लिया। 

शनिवार को पालम विहार थाना पुलिस ने सिविल अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल चेकअप कराया, जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि हुई। पुलिस ने जोगिंदर सिंह की अदालत में भी उसका बयान दर्ज कराया।

Oct 10, 2013

PM नहीं, यूपी का CM बनना चाहते हैं राहुल गांधी 

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के भाषणों में हर दिन गुजरने के साथ-साथ तल्‍खी आ रही है। और कांग्रेसी यह देख-सुनकर गदगद हैं।

भाजपा के पीएम पद के दावेदार नरेंद्र मोदी के सामने कांग्रेस पार्टी की सारी उम्मीदें अपने युवराज राहुल से लगी हैं। साथ ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई वरिष्ठ नेता इशारा कर चुके हैं कि राहुल को ही अगला पीएम बनना चाहिए।

लेकिन अगर यह कहा जाए कि एक वक्‍त था जब वह पीएम नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश का सीएम बनना चाहते थे, तो आप क्या कहेंगे?

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक रशीद किदवई की किताब '24 अकरब रोड' के नए संस्करण में जोड़े गए अध्याय में यह खुलासा है कि कांग्रेस जिसे प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखना चाहती है, वही राहुल गांधी एक बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनना चाहते थे।

इस किताब में यह है कि सोनिया गांधी 2016 में सक्रिय राजनीति से रिटायर होना चाहती हैं और राहुल के पार्टी की कमान संभालने के‌ लिए हामी भरने की यह एक बड़ी वजह थी।

किदवई के मुताबिक कांग्रेसियों ने राहुल की यह पेशकश सिरे से खारिज कर दी थी। दरअसल, पार्टी के कुछ नेताओं का मानना था कि दिल्ली में उनकी सियासी ताकत का रास्ता लखनऊ से होकर जाता है, लेकिन 2012 के विधानसभा चुनाव उनके लिए बड़ा झटका साबित हुए।

राहुल इन चुनावों से पहले और दौरान कई बार कह चुके थे उत्तर प्रदेश उनकी कर्मभूमि है और वह उसकी नुमाइंदगी करने के लिए तैयार हैं।

नए अध्याय में बताया गया है कि उन्होंने नवंबर, 2011 में फूलपुर रैली के दौरान कहा था, "जब मैं उत्तर प्रदेश में इस तरह का अन्याय देखता हूं, तो सोचता हूं कि क्यों न लखनऊ आकर रहूं और आपकी लड़ाई लड़ूं।"

इसमें कहा गया है, "राहुल के करीबी सूत्रों का कहना है कि उन्होंने उत्तर प्रदेश चुनावों के दौरान मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनने के बारे में संजीदगी से विचार किया था। लेकिन कांग्रेस कमेटी ने इस विचार को सिरे से दरकिनार कर दिया।"

उस वक्‍त राहुल को उत्तर प्रदेश में क्यों कोई पद नहीं लेना चाहिए, सहयोगियों ने इसके दो कारण बताए थे। पहला, शासन करने के‌ लिहाज से उत्तर प्रदेश काफी मुश्किल राज्य है। दूसरा, राहुल खुद को किसी एक राज्य या क्षेत्र तक सीमित नहीं रख सकते।

दलील यह थी कि राहुल अगर उत्तर प्रदेश को अपनी पहचान बनाते हैं और किसी वजह से मतदाता उन्हें खारिज करते हैं, तो इससे दिल्ली में उनकी अगुवाई में सरकार बनाने का कांग्रेस का ख्वाब जाता रहेगा।

और ऐसा हुआ भी। ‌विधानसभा चुनावों में कांग्रेस केवल 28 सीटों पर सिमटकर चौथे पायदान पर आ गई। अगर राहुल को सीएम पद का दावेदार बनाया जाता है, तो यह उनकी छवि के लिए तगड़ा झटका होता।

PM नहीं, यूपी का CM बनना चाहते हैं राहुल गांधी 

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के भाषणों में हर दिन गुजरने के साथ-साथ तल्‍खी आ रही है। और कांग्रेसी यह देख-सुनकर गदगद हैं।

भाजपा के पीएम पद के दावेदार नरेंद्र मोदी के सामने कांग्रेस पार्टी की सारी उम्मीदें अपने युवराज राहुल से लगी हैं। साथ ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई वरिष्ठ नेता इशारा कर चुके हैं कि राहुल को ही अगला पीएम बनना चाहिए।

लेकिन अगर यह कहा जाए कि एक वक्‍त था जब वह पीएम नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश का सीएम बनना चाहते थे, तो आप क्या कहेंगे?

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक रशीद किदवई की किताब '24 अकरब रोड' के नए संस्करण में जोड़े गए अध्याय में यह खुलासा है कि कांग्रेस जिसे प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखना चाहती है, वही राहुल गांधी एक बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनना चाहते थे।

इस किताब में यह है कि सोनिया गांधी 2016 में सक्रिय राजनीति से रिटायर होना चाहती हैं और राहुल के पार्टी की कमान संभालने के‌ लिए हामी भरने की यह एक बड़ी वजह थी।

किदवई के मुताबिक कांग्रेसियों ने राहुल की यह पेशकश सिरे से खारिज कर दी थी। दरअसल, पार्टी के कुछ नेताओं का मानना था कि दिल्ली में उनकी सियासी ताकत का रास्ता लखनऊ से होकर जाता है, लेकिन 2012 के विधानसभा चुनाव उनके लिए बड़ा झटका साबित हुए।

राहुल इन चुनावों से पहले और दौरान कई बार कह चुके थे उत्तर प्रदेश उनकी कर्मभूमि है और वह उसकी नुमाइंदगी करने के लिए तैयार हैं।

नए अध्याय में बताया गया है कि उन्होंने नवंबर, 2011 में फूलपुर रैली के दौरान कहा था, "जब मैं उत्तर प्रदेश में इस तरह का अन्याय देखता हूं, तो सोचता हूं कि क्यों न लखनऊ आकर रहूं और आपकी लड़ाई लड़ूं।"

इसमें कहा गया है, "राहुल के करीबी सूत्रों का कहना है कि उन्होंने उत्तर प्रदेश चुनावों के दौरान मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनने के बारे में संजीदगी से विचार किया था। लेकिन कांग्रेस कमेटी ने इस विचार को सिरे से दरकिनार कर दिया।"

उस वक्‍त राहुल को उत्तर प्रदेश में क्यों कोई पद नहीं लेना चाहिए, सहयोगियों ने इसके दो कारण बताए थे। पहला, शासन करने के‌ लिहाज से उत्तर प्रदेश काफी मुश्किल राज्य है। दूसरा, राहुल खुद को किसी एक राज्य या क्षेत्र तक सीमित नहीं रख सकते।

दलील यह थी कि राहुल अगर उत्तर प्रदेश को अपनी पहचान बनाते हैं और किसी वजह से मतदाता उन्हें खारिज करते हैं, तो इससे दिल्ली में उनकी अगुवाई में सरकार बनाने का कांग्रेस का ख्वाब जाता रहेगा।

और ऐसा हुआ भी। ‌विधानसभा चुनावों में कांग्रेस केवल 28 सीटों पर सिमटकर चौथे पायदान पर आ गई। अगर राहुल को सीएम पद का दावेदार बनाया जाता है, तो यह उनकी छवि के लिए तगड़ा झटका होता।

Oct 5, 2013

रामलीला, तीन भाई ही नहीं भगवान राम की एक बहन भी थी

नवरात्र और रामलीला का अनोखा मेल है। क्योंकि इन्हीं दस दिनों में श्री राम ने रावण से युद्घ किया था और रावण राज का अंत किया था। रामलीला की पारंपरिक कहानी आप हर बार पंडालों में देखते होंगे लेकिन हम आपके लिए एक ऐसी रामलीला लेकर आए हैं जिसके बारे में आपने कम ही पढ़ा या सुना होगा। इसी क्रम में आज राम जन्म और उनकी बहन की कहानी लेकर आए हैं।

रामायण में भगवान राम और उनके तीन भाईयों लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न का उल्लेख तो कई जगह मिलता है लेकिन इनकी बहन भी थी इसका उल्लेख कम ही मिलता है। भागवत में भगवान राम के अवतार लेने के संदर्भ में इनकी बहन का जिक्र आया है।

राजा दशरथ और इनकी तीनों रानियां इस बात को लेकर चिंतित रहती हैं कि पुत्र नहीं होने पर उत्तराधिकारी कौन होगा। इनकी चिंता दूर करने के लिए ऋषि वशिष्ठ सलाह देते हैं कि आप अपने दामाद ऋंग ऋषि से पुत्रेष्ठी यज्ञ करवाएं। इससे पुत्र की प्राप्ति होगी।

ऋंग ऋषि का विवाह राजा दशरथ की इकलौती पुत्री शांता से हुआ था। राजा दशरथ ने अपनी पुत्री शांता को रोमपाद नामक के राजा को गोद दे दिया था। शांता के कहने पर ही ऋंग ऋषि राजा दशरथ के लिए पुत्रेष्ठी यज्ञ करने के लिए तैयार हुए थे।

इसका कारण यह था कि यज्ञ कराने वाले का जीवन भर का पुण्य इस यज्ञ की आहुति में नष्ट हो जाता। राजा दशरथ ने ऋंग ऋषि को यज्ञ करवाने के बदले बहुत सा धन दिया जिससे इनके पुत्र और कन्या का भरण-पोषण हुअा और यज्ञ से प्राप्त खीर से राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न का जन्म हुआ। ऋंग ऋषि फिर से पुण्य अर्जित करने के लिए वन में जाकर तपस्या करने लगे।

अद्भुत! नाक से खींचता है पेंट, और आंख से बनाता है पेंटिंग

कुछ दिन पहले हमने आपको एक खबर दी थी, जिसमें एक ऐसे शख्स के बारे में बताया था कि जो अपने लिंग से पेंटिंग बनाता है। ये शख्स भी कुछ वैसा ही चमत्कारी है।

डेली मेल पर प्रकाशित खबर के मुताबिक, अर्जेंटीना का ये शख्स अपनी नाक और आंख के तालमेल से जैक्सन पोलॉक स्टाइल की बेहद खूबसूरत पें‌टिंग्स बनाता है।
माथे पर उगा ली नाक

27 साल के लियानार्दो ग्रेनातो पहले अपनी नाक से रंगों को खींच लेते हैं और उसके बाद उन रंगों को अपनी आंख से पिचकारी की तरह कैनवास पर छिड़कते हैं।
ये है नील मानवए जिसे देखकर ठिठक जाते थे सभी

आप सोच रहे होंगे कि इन पेंटिंग्स को खरीदता कौन होगा। तो हम आपको बता दें कि इनकी एक-एक पेंटिंग 1 लाख 48 हजार रुपए में बिकती है।

इन पें‌टिंग को बनाने में कभी तो 10 मिनट का समय लगता है, लेकिन कभी महीनों का वक्‍त भी लग जाता है। लियानार्दो ढेरों रंगों को अपनी नाक से अंदर खींचते हैं। उनकी नाक और आंख के बीच एक बेहद अनूठा संबंध है।

लियानार्दो इस तरह की चित्रकारी अरसे से कर रहे हैं। वो बताते हैं कि उन्हें बचपन से ही पता था ‌कि उनकी नाक और आंख में एक अनोखा तालमेल है। 

अच्‍छी बात ये है कि लियानार्दो समय-समय पर अपनी मेडिकल जांच कराते रहते हैं और ये विधि उनके लिए किसी भी तरह से नुकसानदेह नहीं है।

Oct 2, 2013

बच्चे को जिंदा जलाने पर संगरूर में बवाल 

शहर में एक मासूम बच्चे की सोमवार को जिंदा जलाकर हत्या कर दिए जाने के विरोध में मंगलवार को संगरूर जिले के लगभग सभी शहरों-कस्बों में बाजार बंद रहे।

प्रशासन और पुलिस की नाकामी के खिलाफ अनेक सामाजिक संगठनों ने जगह-जगह रोष प्रदर्शन किए। मालेरकोटला, संगरूर, धुरी, सुनाम, भवानीगढ़ और दिड़बा में बाजार पूरी तरह से बंद रहे।

मालेरकोटला में दो सौ से अधिक महिलाओं ने देर शाम तक लुधियाना-हिसार नेशनल हाईवे को बंद रखा जबकि उत्तेजित भीड़ ने धुरी जंक्शन पर ट्रेनों को रोक दिया।

इस बीच, एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू ने सोमवार को गुस्साए लोगों पर लाठीचार्ज किए जाने के मामले में कार्रवाई करते हुए मालेरकोटला सिटी वन एसएचओ परमिंदर सिंह और सिटी टू एसएचओ दविंदर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया।

मंगलवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सुरजीत कुमार ज्याणी भी मालेरकोटला पहुंचे। ज्याणी ने विभू जैन की याद में कम्युनिटी सेंटर का निर्माण कराए जाने का ऐलान किया। मालेरकोटला में लोगों ने हत्यारों को तुरंत गिरफ्तार कर सख्त सजा दिए जाने की मांग की।

धुरी में मंगलवार को करीब दो घंटे तक लुधियाना-हिसार रेलवे ट्रैक को लोगों ने जाम कर दिया। इससे शताब्दी एक्सप्रेस संगरूर के पास, हिसार-लुधियाना यात्री ट्रेन मलेरकोटला के पास, लुधियाला-हिसार ट्रेन संगरूर और बठिंडा-अंबाला ट्रेन धुरी के पास रोक दी गईं।

पंजाब सरकार ने हत्या की घटना के जांच के आदेश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने डीजीपी को हिदायत देते हुए विभू जैन की हत्या के मामले में जांच रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

सीएम के आदेश पर मालेरकोटला पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री सुरजीत कुमार ज्याणी ने कहा कि मामले के पीछे किसी बड़ी साजिश की आशंका है। इसे लेकर पुलिस प्रशासन को कड़े दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

मालेरकोटला में शरारती तत्वों की दरिंदगी के शिकार हुए मासूम विभू जैन का मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान भारी तादाद में लोगों ने नम आंखों से विभू जैन को अंतिम विदाई दी।

इस मौके पर राज्यसभा सदस्य सुखदेव सिंह ढींढसा, सेहत व परिवार भलाई मंत्री सुरजीत कुमार ज्याणी, मुख्य संसदीय सचिव फरजाना आलम, कमिश्नर पटियाला डिवीजन अजीत सिंह पन्नू, आईजी पटियाला ईश्वर सिंह, डीआईजी गुरप्रीत सिंह गिल, डीसी डा. इंदु मल्होत्रा, एडीसी प्रीतम सिंह जौहल भी पहुंचे थे।

विभू जैन के अंतिम संस्कार के बाद रोष प्रदर्शन कर रहे विभिन्न वर्गों के लोग भी शांत हो गए और मालेरकोटला की स्थिति आम स्थिति में तबदील हो गई है।

इसके अलावा घटना के दिन उग्र भीड़ को तितरबितर करने के लिए लाठीचार्ज की घटना को लेकर एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू ने सिटी मालेरकोटला एक के एसएचओ परमिंदर सिंह और मालेरकोटला सिटी दो के एसएचओ दविंदर सिंह को लाइन हाजिर कर लिया गया है।

Sep 26, 2013

रोहतक विवाहिता को धमकी देकर दुराचार 

रोहतक। शहर थाना के अंतर्गत डेयरी मोहल्ला में एक विवाहिता के साथ दुराचार करने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़िता का कहना है कि आरोपी पिछले काफी दिनों से दुराचार कर रहा था। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट करते हुए पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने पीड़िता के बयान पर आरोपी घरौठी निवासी सोमवीर के खिलाफ दुराचार व एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मामला दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार है। एक विवाहिता ने शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई कि गांव घरौठी निवासी सोमवीर उसे जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ पिछले काफी दिनों से दुराचार कर रहा है।

Aug 28, 2013

यूपी में कुएं से निकले दो अजगर, क्या हुआ उसके बाद?

उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के सादाबाद में गांव सोरई (पट्टी शक्ति) स्थित एक बोरिंग के कुएं से सोमवार की दोपहर दो अजगर निकल आए। यह कुआं करबन नदी के पास ही है।

कुंए में अजगर होने की सूचना वन विभाग को मिली तो उसने इसकी जानकारी आगरा की कीठम झील स्थित वाइल्ड लाइफ टीम को दी।
braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news, सूचना पर मंगलवार को वाइल्ड लाइफ टीम के कर्मवीर और राजकुमार राय वन विभाग के कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचे और कड़ी मशक्कत के बाद कुएं से दोनों अजगर को बाहर निकाला।
braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news, braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news, इसमें एक अजगर सांप 8 फीट लंबा और 10 किलोग्राम वजन का था, जबकि दूसरा अजगर 5 फीट लंबा और 6 किलोग्राम का था।
braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news,
इससे पहले भी इसी बोरिंग के कुएं से पिछले दो वर्षों में 3 अजगर दो बार में पकडे़ जा चुके हैं।
braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news,
braking news rohtak, property investment, car insurance, travel insurance india, breaking news, latest hindi news,

फ्रांस के एलिक्स ने ओम में देखा ब्रह्मांड का रहस्य


कहते हैं ज्ञान एक जगह समाहित नहीं किया जा सकता और ना ही इसकी कोई सीमाएं ही हैं, जिसमें ज्ञान को जकड कर बांध लिया जाए।
अगर भारतीयों में विदेश जाने, वहां की संस्कृति में रमने और विदेशी भाषाओं के प्रति जुनून बढ़ रहा है, तो विदेशी भी भारतीय संस्कृति से खुद को आकर्षित होने से नहीं बचा पा रहे हैं। 
संस्कृत सीखने में विदेशियों की रुचि
ऋषिकेश आने वाले विदेशी जिज्ञासुओं एवं साधकों में भारतीय सांस्कृतिक परंपराओं को जानने, संस्कृत भाषा को सीखने और धर्मग्रंथों का संदेश प्राप्त करने का जुनून झलकता है।

तीर्थनगरी में आए दो विदेशी पर्यटक इन दिनों संस्कृत भाषा और भारतीय सांस्कृतिक परम्पराओं को जानने के लिए आश्रमों की खाक छान रहे हैं।

वह यहां की समृद्ध संस्कृति के न सिर्फ कायल हैं बल्कि उसे करीब से जानने, समझने और अपनाने के लिए प्रयासरत भी दिखते हैं।

बेल्जियम से पहुंचा भारत
बेल्जियम के मारकुस का कहना है कि भारतीय संस्कृति ने मुझे काफी प्रभावित किया। संस्कृत भाषा को सीखने के लिए मैं यहां पर कई आश्रमों में गया।

जहां मुझे महाभारत और भगवद् गीता के बारे में जानकारी मिली। इसके अलावा मैंने वहां जाना कि भारतीय लोग गंगा को इतना पवित्र क्यों मानते हैं। लोग गंगा में डुबकी लगाते हैं। इसका एहसास मुझे तीर्थनगरी आकर और गंगा में स्नान के बाद हुआ।

ओम का महत्व
उनके साथ आए फ्रांस के एलिक्स का कहना है कि मैंने जाना कि ओम शब्द में संपूर्ण ब्रह्मांड का रहस्य छिपा हुआ है। यही आदि और अंत माना गया है। इसके उच्चारण के बिना भारतीय संस्कृति में कोई भी पूजा-पाठ नहीं होता।

फ्रांस के एलिक्स ने ओम में देखा ब्रह्मांड का रहस्य


शिष्याओं ने मां पर डाला आसाराम से मिलने का दबाव


नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के आरोप में फंसे आसाराम बापू के शिष्य पीड़ित पक्ष पर समझौते के लिए दबाव बनाए हुए हैं।इन प्रयासों में उनके कृपापात्र सुरेशानंद के विफल हो जाने के बाद अब प्रवक्ता नीलम दुबे और शिष्या पूजा बेन ने पीड़ित लड़की की मां से मुलाकात कर उनको आसाराम से मिलने के लिए मनाने की कोशिश की।india, travel, car insurance, travel insurance, insurance india, travel insurance india, braking news rohtak, Live News, Hindi news, latest Hindi news हालांकि लड़की की मां ने उनकी पेशकश को ठुकरा दिया है।

india, travel, car insurance, travel insurance, insurance india, travel insurance india, braking news rohtak, Live News, Hindi news, latest Hindi news प्राप्त जानकारी के मुताबिक, शाहजहांपुर की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म का मामला सुर्खियों में आने के बाद संत आसाराम के कृपापात्र शिष्य और दत्तक पुत्र सुरेशानंद शनिवार को सत्संग के बहाने दो दिवसीय कार्यक्रम पर यहां आए।दो दिन में उन्होंने कई तरह से पीड़ित पक्ष से मुलाकात की कोशिश की लेकिन सफल नहीं होने पर यहां से चले गए। उनके जाने के अगले ही दिन सोमवार को आसाराम की प्रवक्ता नीलम दुबे और शिष्या पूजा बेन आ धमकीं।

दोनों ने लड़की की मां से मिलने का प्रयास किया। गश्त पर निकले थाना कोतवाली के पुलिस कर्मी लड़की के मकान पर कुछ अतिरिक्त चहल-पहल देखकर माजरा जानने वहां पहुंच गए।india, travel, car insurance, travel insurance, insurance india, travel insurance india, braking news rohtak, Live News, Hindi news, latest Hindi news संत की शिष्याओं ने लड़की की मां से मिलने के लिए उनसे मदद की गुहार भी लगाई।

कोतवाल जीत सिंह ने बताया कि लड़की के घरवालों के मिलने की इच्छा जताने पर ही उनसे मुलाकात करने दी जाएगी। हालांकि बाद में किसी तरह वे रात आठ बजे के बाद लड़की की मां से मिलने में सफल हो गईं।

लड़की के भाई ने बताया कि दोनों ने उसकी मां पर संत से मिलने के लिए दबाव बनाना चाहा। india, travel, car insurance, travel insurance, insurance india, travel insurance india, braking news rohtak, Live News, Hindi news, latest Hindi news उन्होंने प्रस्ताव रखा कि संत आसाराम उनसे मिलना चाहते हैं। संत इस मामले में उनकी गलतफहमी दूर करना चाहते हैं और उनसे मुलाकात की जिम्मेदारी वह दोनों ले रही हैं।दोनों ने उनकी समझदारी का हवाला देते हुए कहा कि संत से मिलने में कोई नुकसान नहीं है, उनकी बात सुन ली जाए। इस पर लड़की मां ने यह कहकर मना कर दिया कि जब तक उनके पति छिंदवाड़ा से नहीं आते वह कुछ नहीं कह सकतीं। इसके बाद दोनों शिष्याएं चली गईं।
india, travel, car insurance, travel insurance, insurance india, travel insurance india, braking news rohtak, Live News, Hindi news, latest Hindi news

पड़ोसी से बनाती थी अवैध संबंध, वीडियो देख पति के उड़े होश

रेहड़ में एक विवाहिता की अश्लील क्लिप सार्वजनिक होने के बाद दंपति में अलगाव की स्थिति पैदा हो गई। पति ने महिला को तलाक दे दिया।

सूत्रों का कहना है कि इस मामले को लेकर गांव में पंचायत बुलाई जा रही है।क्षेत्र के एक गांव का युवक गैर जिले में नौकरी करता है। पत्नी घर पर ही सास-ससुर के साथ रहती थी। इस दौरान पत्नी के संबंध पड़ोस के ही एक युवक से हो गए।

आरोप है कि पत्नी रात्रि में सास-ससुर को नींद की गोलियां दे देती थी। युवक मौका पाकर उसके घर पहुंच जाता था।मामला उस समय गरमा गया जब महिला की अश्लील क्लिप उसके देवर के पास तक पहुंच गई। देवर ने इस मामले की जानकारी अपने बड़े भाई को दी तो उनके होश उड़ गए।अश्लील क्लिप मिलने पर बड़े भाई ने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया।

सूत्रों का कहना है कि इस मामले को लेकर बिरादरी की पंचायत होगी। जिसमें दोनों पक्षों की बातों को रखा जाएगा। दोनों की जिंदगी का पंच ही फैसला करेंगे। उधर, एसओ वीरेंद्र सिंह ने इस प्रकार का मामला संज्ञान में होने से इंकार किया है।

छात्रा को अश्लील कॉल कर दरोगा कह रहा 'उठा ले जाऊंगा'

उत्तर प्रदेश में बिजनौर का एक दरोगा छात्रा को अश्लील बातों से तंग कर रहा है। कभी दोस्ती का आफर तो कभी शादी का प्रस्ताव। सीयूजी नंबर से भी देर रात में कॉल आती हैं। विरोध जताने पर उठा ले जाने तक की धमकी दी।परेशान छात्रा ने उच्चाधिकारियों से कार्रवाई की मांग की है। मंगलवार को उसने एसएसपी को प्रार्थना पत्र दिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, युवती गांधीनगर की रहने वाली है और नोएडा में रहकर पीसीएस जे की तैयारी कर रही है। उसके पिता कपड़े का कारोबार करते हैं। करीब एक साल पहले उसके पिता की मिलन विहार में रहने वाले एक दरोगा से मित्रता हुई थी।

इसके बाद दरोगा का उसके घर आना जाना शुरू हो गया। इन दिनों दरोगा एसपी बिजनौर के कार्यालय में तैनात है। जबकि पहले वह गलशहीद थाने में रह चुका है। आरोप है कि ट्रांसफर के बाद दरोगा ने छात्रा को फोन करना शुरू कर दिया। पहले तो दोस्ती का आफर दिया। इसके बाद अचानक शादी का प्रस्ताव रख दिया।दिन रात कभी भी आने वाली कॉल ने जीना मुश्किल कर दिया है। किसी तरह युवती के दोस्तों के नंबर जुटाकर उन्हें भी धमकी देने का आरोप है। छात्रा ने एसएसपी को दरोगा के दो फोन नंबर भी दिए, जिसमें से एक सीयूजी नंबर है।

'आसाराम को भगवान माना लेकिन राक्षस निकला' Rape Victim Father Said

‘जिसे भगवान माना था, वही राक्षस निकला। मेरे घर की इज्जत से खिलवाड़ करने वाले दुष्कर्म के आरोपी संत आसाराम को सजा-ए-मौत मिलनी चाहिए। मुझे कानून पर पूरा भरोसा है। पुलिस पूरी मदद कर रही है, फिर भी जरूरत पड़ी तो सीबीआई से जांच की मांग उठाऊंगा। बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए आखिरी सांस तक लड़ता रहूंगा, इसके लिए मुझे चाहे कोई भी कुर्बानी क्यों न देना पड़े। किसी धमकी या दबाव से हरगिज नहीं डरूंगा।’

यह कहना है पीड़ित लड़की के पिता का। मंगलवार को देर रात जोधपुर से उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर लौटने के बाद मीडिया के बीच उन्होंने अपना दुख दर्द बांटा। उन्होंने कहा कि वह आसाराम के खिलाफ कोई साजिश नहीं रच रहे हैं।

उन्होंने कहा कि संत ने उनकी बेटी के साथ जो कृत्य किया वह बहुत शर्मनाक है। मैं ही नहीं, दुनिया का कोई भी पिता अपनी बेटी की इज्जत पर कीचड़ उछालकर रंजिश नहीं निकालेगा, अगर कोई ऐसा कहता है तो वह गलत है।

उन्होंने कहा कि मेरी लड़की के साथ जो भी हुआ है, उसका मैं खुद गवाह हूं। उन्होंने बताया: जिस कमरे से आसाराम उसकी बेटी को खींचकर ले गए थे उसमें शीशे लगे हुए थे। अंदर की आवाज बाहर नहीं आ सकती थी।पीड़ित बेटी के पिता ने कहा कि वह और उनका परिवार आसाराम को भगवान की तरह पूजते थे, लेकिन अब वह बेनकाब हो चुके हैं। आसाराम ने उन्हें कहीं का भी नहीं छोड़ा है। बेटी को इंसाफ दिलाने की खातिर वह प्रत्येक अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। उन्हें न्यायपालिका और पुलिस पर भरोसा है।

आसाराम चाहे जितनी भी धमकियां दे लें इससे वह डरने वाले नहीं हैं। ऐसे ढोंगी और कुकर्मी संत को फांसी दे देनी चाहिए। लड़की के पिता अपने उस बेटे को भी साथ लाए हैं जो छिंदवाड़ा गुरुकुल में बंधक बना था। अब पीड़ित परिवार इस समय अपने घर पर पुलिस के पहरे में है।पीड़ित का कहना था कि अब उन पर दुष्कर्म के आरोपी से मुलाकात करने पर दबाव डाला जा रहा है।

travel insurance in india,

travel insurance in india, international travel insurance in india, travel insurance india to usa, travel insurance from india