" " Live Hindi News from Haryana, Property Investment is Better: online payday loans
Showing posts with label online payday loans. Show all posts
Showing posts with label online payday loans. Show all posts

Nov 30, 2013

हत्या कर शव खेत में जलाया

रोहतक। गांव ककराना में वीरवार रात अज्ञात हमलावरों ने एक युवक की हत्या कर शव को खुर्द बुर्द करने की नीयत से जलाने का प्रयास किया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। शव जला होने के कारण उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी। पुलिस ने शव को पीजीआई के शव गृह में रखवा दिया है और इस संबंध में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। एफएसएल की विशेष टीम ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह खेतों में जाते वक्त ग्रामीणों ने एक युवक का शव पड़ा हुआ देखा। इसी बीच सूचना मिलने पर कलानौर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने घटनास्थल का बारीकी से मुआयना किया, परंतु इस संबंध में पुलिस को कोई जानकारी नहीं मिली। मृतक का चहेरा झुलसा होने के कारण उसकी पहचान नहीं हो सकी। पुलिस का कहना है कि हो सकता है कि युवक की हत्या किसी और स्थान पर की गई हो और शव को खुर्द-बुर्द करने की नीयत से यहां जलाया गया हो। कलानौर थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि शव की शिनाख्त के लिए आसपास के लेागों से पता किया जा रहा है।

Oct 13, 2013

रतनगढ़ देवी मंदिर में भगदड़, लाशों का लगा ढेर 90 died

मध्य प्रदेश के दतिया के रतनगढ़ देवी मंदिर में दर्शन कर अपनी मनोकामनाएं पूरी करने का सपना लेकर निकले उन लोगों को जरा भी अंदाज नहीं था कि अब वे जीवित घर नहीं लौटेंगे।

नवमी के मौके पर हुई भगदड़ में पुलिस ने भले ही अब तक 90 लोगों के मरने की पुष्टि की है लेकिन यह संख्या 200 तक चली जाए तो कोई आश्चर्य नहीं।

घबराहट और भगदड़ में सिंध नदी में गिरे लोगों के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है। चश्मदीद का कहना है कि नदी में गिरने वालों की बड़ी तादाद हो सकती है।

सरकार ने अभी तो वर्ष 2006 के भयानक हादसे की न्यायिक जांच पर भी कार्रवाई नहीं की थी कि यह एक और भयानक हादसा हो गया है। जिसमें महिलाएं, बच्चे और बूढ़े सबसे ज्यादा शिकार बने।

सिंध नदी के पुल गिरने की अफवाह से मची यह भगदड़ पुलिस प्रशासन की भारी विफलता का नमूना है। नदी में गिरकर मलने वालों का अब तक कोई पता नहीं लगाया जा सका है। मुख्यमंत्री ने न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं।

कांग्रेस के पूर्व मंत्री और दतिया के प्रभारी सत्यदेव कटारे ने आरोप लगाया है कि एक भाजपा नेता की गाड़ी के लिए रास्ता खाली कराया जा रहा था और पुलिस पैसे लेकर गाड़ियों को अंदर जाने दे रही थी। उससे अफरा-तफरी मची और पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिससे भगदड़ हुई।
सरकार ने क्या किया
डीआईजी पुलिस ने अब तक 90 लोगों के मरने की पुष्टि की है। मृतकों की सूची तैयार करके लाशें विसरा के लिए भेज दी गई हैं। ग्वालियर से 50 मेडिकल विशेषज्ञों की टीम दतिया पहुंच गई है। घायलों को भी ग्वालियर के ट्रामा सेंटर ले जाया जा रहा है।

चुनाव आयोग की अनुमति के बाद सरकार ने मृतकों के परिवार को डेढ़-डेढ़ लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा दतिया पहुंच गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रोटोकाल अधिकारी ने पुष्टि की है कि अब तक मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में कोई तब्दीली नहीं है। फिर भी वह सोमवार को दतिया जा सकते हैं। मुख्यमंत्री को कार्यक्रम के अनुसार दशहरे पर शस्त्रपूजा करनी है।

भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती सोमवार को दतिया पहुंच रही हैं। 
सिंधिया ने स्थगित किए कार्यक्रम
केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के कैंपेनर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने सोमवार के दशहरे के सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। वह सोमवार को दतिया पहुंचेंगे।

सत्यदेव कटारे ने बताया कि वह स्वयं दतिया जा रहे हैं। कटारे ने सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा नेता की गाड़ी को निकालने के लिए पुलिस बलप्रयोग कर रही थी।

कटारे ने कहा, 'वर्ष 2006 में भी यहां भगदड़ की घटना हुई थी, जिसकी न्यायिक जांच के आदेश दिए गए थे, लेकिन इस सरकार ने उसकी सुझावों और सजा देने की सिफारिशों को कैबिनेट की बैठक तक में नहीं रखा।'

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि सिंध नदी पर बना पुल टूटने की अफवाह के बाद भगदड़ मच गई। लोग पुल के दोनों तरफ बेतहाशा भागने लगे।

घबराहट में लोगों ने एक दूसरे को कुचलना शुरू कर दिया। कुछ मिनटों में ही वहां लाशों के ढेर नजर आने लगे थे। उसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिससे हालात और ज्यादा खराब हो गए। 

 
घटना के बाद जाम में करीब 40-50 हजार लोग फंस गए थे। नाराज श्रद्धालुओं ने पुलिस पर पथराव कर दिया व एस़डीओ पुलिस की पिटाई भी कर दी। वहां तनाव फैल गया था। यह भगदड़ पुलिस लाठीचार्ज होने के बाद मची।

सरकार ने डेढ़-डेढ़ लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की है जिसे चुनाव आयोग ने मंजूरी दे दी है। कांग्रेस ने मुआवजे की राशि 5-5 लाख रुपए करने की मांग की है।

चुनाव आयोग ने यह शर्त लगाई है कि सहायता का श्रेय कोई भी नेता या दल नहीं लेगा। मुआवजे का वितरण संभागीय आयुक्त करेंगे। राज्यपाल ने भी हरसंभव मदद वहां पहुंचाने के आदेश दिए हैं।

रतनगढ़ मंदिर में मध्य प्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश और राजस्थान के भी दर्शनार्थी आते हैं। यह मंदिर मध्य प्रदेश में उत्तर प्रदेश सीमा के काफी करीब है। जहां हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं।

 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मध्य प्रदेश के दतिया जिले के रतनगढ़ में माता मंदिर में मची भगदड़ पर दुख जताया है। 

राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के मुताबिक प्रणब मुखर्जी ने प्रशासन को पीड़ितों को हरसंभव सहायता मुहैया कराने को कहा है। साथ ही उन्होंने मरने वालों के परिवार के साथ संवेदना व्यक्त की और घायलों के जल्दी ठीक होने की कामना की। 

प्रधानमंत्री ने भी अपने संदेश में कहा, ‘हमारे दिल और प्रार्थनाएं पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ हैं।’ जबकि कांग्रेस अध्यक्ष के हवाले से जारी बयान में कहा कि हादसे के बाद से सोनिया गांधी सदमे और गहरे दुख में हैं। 

उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए आशा जताई है कि घायलों को उचित इलाज मिलेगा। 

शादी की सजा, लड़की को निर्वस्त्र कर सिर मूंड़ा 

महाराष्ट्र में ठाणे जिले में दिल को झकझोर देने वाली एक घटना हुई है। यहां दूसरी जाति के लड़के से शादी करने पर एक 19 वर्षीय आदिवासी लड़की को उसके ससुरालियों ने कथित तौर पर निर्वस्त्र कर दिया और उसका सिर मूंड़ दिया। 

जिले के शाहपुर तालुका के पढगा पुलिस थाने में शनिवार को दर्ज कराई अपनी शिकायत में पीड़ित लड़की ने कहा कि उसके ससुरालवालों ने उसे बुरी तरह पीटा और उसके कपड़े फाड़ दिए, इसके बाद उसका सिर मूंड़ दिया। 

पीड़िता ने कहा कि ससुरालवाले नहीं चाहते थे कि उनका बेटा योगेश उस लड़की से शादी करे। पुलिस के मुताबिक, पीड़ित लड़की ने अपनी शिकायत में बताया कि जिले के भिवंडी शहर के एक गोदाम में काम करने के दौरान योगेश से उसकी जान पहचान हुई थी। 

परिवार के विरोध के बावजूद पीड़िता और लड़के ने इस साल मई में शादी कर ली थी। शादी के बाद दोनों भिवंडी तालुका में दाभाडे के पाली गांव में लड़की के माता-पिता के घर में ही रहने लगे थे। 

30 अगस्त को जब युगल लड़की के घर लौट रहा था तो योगेश के परिजन जबरदस्ती उसे भिवंडी के मैदे गांव स्थित अपने घर ले गए। 

पुलिस के मुताबिक, घर के दरवाजे पर दोनों को बांध दिया गया और लड़की को निर्वस्त्र कर उसके सिर को मूंड़ दिया गया। 

बाद में गांव के सरपंच ने लड़की को वहां से आजाद कराया और दोनों को पढगा पुलिस स्टेशन ले गए, जहां इस बात का फैसला किया गया कि दोनों अब अलग-अलग रहेंगे। 

इसके बाद शनिवार रात पीड़ित लड़की ने योगेश के घरवालों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। हालांकि अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

'ऐसा तूफान जिन्दगी में कभी नहीं देखा'

शनिवार रात, करीब नौ बजे जब फैलिन तूफ़ान ओडिशा तट से टकराया तो बीबीसी के संवाददाता और उनकी सहायक टीमें वहां पहुंच चुकी थीं।

तूफ़ान सबसे पहले गोपालपुर पहुंचा था और उससे क़रीब 15 किलोमीटर दूर बेरहामपुर में बीबीसी की टीमें तैनात थी।

बिजली गुल हो चुकी थी और संपर्क के और साधन जैसे सैटेलाइट फ़ोन भी पूरी तरह काम नहीं कर रहे थे।

एक तरफ़ तूफ़ान का आवेग और दूसरी ओर अंधेरे से बढ़ता ख़तरा, बचने के लिए सबको वापस अपने होटल की ओर भागना पड़ा।

उसी दौरान दिल्ली ऑफ़िस को तूफान के आने की सूचना देने के लिए जब सलमान रावी ने फोन किया तो आवाज़ में बहुत घबराहट थी, वो बोले, “ऐसा तूफ़ान मैंने अपनी ज़िन्दगी में कभी नहीं देखा है, ये आवाज़ दिलो-दिमाग पर कई सालों तक बरक़रार रहेगी।”

सलमान ने बताया कि उनके होटल में पानी भर रहा था और खिड़कियां टूट गईं थीं।

उन्होंने कहा कि बिजली गुल होने की वजह से कुछ दिखाई नहीं दे रहा पर चीज़ों के टूटने और गिरने की आवाज़ें चारों तरफ़ से आ रही थी।

टूटते सिग्नल के साथ होती उस छोटी सी बातचीत के दौरान तेज़ हवाओं और बारिश की आवाज़ सुनाई पड़ रही थी।

आखिर सलमान रावी ने कहा अब उन्हें होटल के अंदर जाना ही होगा क्योंकि बाहर रहना ख़तरे से ख़ाली नहीं।

वहीं संजय मजूमदार ने अपने आसपास के घटनाक्रम की जानकारी देने के लिए सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर का इस्तेमाल किया।

भुवनेश्वर के हवाई अड्डे पर उतरने के बाद संजय ने ट्वीट कर बताया, “कुछ बेहद डरावने पल...तेज़ हवाओं की वजह से तीन कोशिशों के बाद ही विमान लैंड कर पाया।”

संजय के मुताबिक इसके बाद भुवनेश्वर हवाई अड्डा बंद कर दिया गया।

हवाई अड्डे से बाहर निकले तो एक ट्वीट में लिखा कि सभी दुकानें बंद हैं, बिल्डिंगों पर ताला है और सड़कों पर सन्नाटा है।

कुछ ही घंटों में जब पाइलिन तूफ़ान गोपालपुर से टकराया, तो तेज़ हवाओं और बारिश की जानकारी के साथ-साथ संजय ने लिखा, “पाइलिन अपने पूरे आवेग में हमारे सर पर है, बाहर के शोर का आक्रोश दिलो-दिमाग पर छा गया है।”

बीबीसी की तीसरी टीम के साथ ऐन्ड्रयू नॉर्थ ओडीशा के तट पर तब पहुंचे जब फैलिन तूफ़ान बहुत करीब आ गया था।

एक ट्वीट में उन्होंने लिखा कि उनका विमान ‘फ्रिस्बी’ की तरह झूल रहा था और जब आखिरकार सुरक्षित लैंड किया तो लोगों ने पायलट के लिए तालियां बजाईं।

उसके बाद तूफ़ान का आंखोदेखा हाल उन्होंने कुछ ऐसे बयान किया, “जब हम पहुंचे तो भारी तबाही का मंज़र सामने था, शहर अंधेरे में डूबा था, हमारी गाड़ी की हेडलाइट की रौशनी कभी गिरे हुए पेड़ों पर पड़ती तो कभी बंद हो गईं सड़कों पर।”

उन्होंने बताया कि तेज़ हवाओं में दुकानों के बोर्ड समेत बहुत सारा सामान तूफ़ान के वेग से चारों तरफ हवा में उड़ने लगा था।

दुर्गा पूजा और दशहरे की तैयारी में की गई सजावट भी चारों ओर बिखरी पड़ी थी।

ऐन्ड्र्यू ने बताया, “हमारे होटल की लॉबी पर काँच ही काँच बिखरा है, खिड़कियां टूट गई हैं और तूफ़ान उफान पर है, ये एक बहुत भयानक रात लग रही है।”

इंफेक्‍शन हुआ तो एक पैर काटा, बीमारी दूजे पैर में लगी

कोई शख्‍स लकड़ी काटने वाली आरी से अपना पैर कैसे काट सकता है...सुनकर भरोसा कर पाना मुश्‍कि‍ल है लेकि‍न ये सच है।

इस शख्‍स ने लकड़ी काटने वाली आरी से खुद ही अपना पैर काट डाला। पहले तो उसे लगा कि फल काटने वाले चाकू से ही पैर कट जाएगा, लेकि‍न जब बात नहीं बनी तो उसने आरी उठा ली।

आपने आज तक नहीं देखी होगी सांपों की ऐसी जुगलबंदी

डेली मेल की खबर के अनुसार, अगर आप सोच रहे हैं कि ये शख्‍स पागल होगा, तो आपको बता दें कि झेंग यानलि‍यांग दिमागी रूप से बि‍ल्‍कुल ठीक हैं। लेकि‍न अस्‍पताल के महंगे बि‍ल भरने के लि‍ए उनके पास पैसे नहीं थे।

इसलि‍ए उन्‍होंने खुद ही अपना संक्रमि‍त पैर काट कर फेंक दि‍या। चीन के बोडिंग शहर में रहने वाले 47 साल के झेंग को पेट से होते हुए पैरों में तेज दर्द होता था।

पत्नी को हुआ घोड़े से प्यार, पति ने दिया तलाक

उन्‍होंने जांच कराई तो पता चला कि ये तकलीफ दोनों पैरो में ही है। एक दि‍न जब दर्द हद से ज्‍यादा बढ़ गया तो उन्‍होंने आरी और चाकू से अपना पैर काट डाला। ऐसा करने की केवल एक वजह ये थी कि वो अस्‍पताल का खर्च नहीं उठा सकते थे।

जब झेंग ने जांच कराई थी तभी डॉक्‍टर ने उन्‍हें बता दि‍या था कि उन्‍हें एक दुर्लभ बीमारी है। जि‍सकी वजह से उनके दांएं पैर की धमनि‍यां गायब हो गई है और उनकी मौत भी हो सकती है।

झेंग को दर्द इस कदर होता था कि उनके चि‍ल्‍लाने की आवाज से पड़ोसी भी रात को जग जाते थे। फि‍र एक रात जब झेंग की बीवी की आंख्‍ा लग गई तो उसने फल काटने वाले चाकू से अपनी खाल उतारनी शुरू की और खुद को बांध लि‍या।

उसके बाद आरी से हड्डी को काटना शुरू कि‍या, लेकि‍न आरी बीच में से ही टूट गई। उसके बाद उन्‍हें अपनी बीवी को नींद से जगाना पड़ा।

कुछ ही देर बाद उनका दायां पैर कूल्‍हे के थोड़ी दूरी से कट चुका था, जि‍से उन्‍होंने बाद में कूड़ेदान में डाल दि‍या।

लेकि‍न बुरी खबर ये है कि इस बार संक्रमण उनके बाएं पैर में है और डॉक्‍टरों ने साफ कह दि‍या है कि उनके पैर बचा पाना मुमकि‍न नहीं है।

इतना बढ़ गया कद्दू कि कार हो गया... 

अगर आप ये तय नहीं कर पा रहे हैं कि ये बच्‍चे कि‍स चीज की सवारी कर रहे हैं, तो हम आपको बता दें कि ये कोई कार नहीं है।

डेली मेल की खबर के अनुसार, ब्रि‍टेन के कि‍सान मार्क बैग्‍स ने ये वि‍शालकाय कद्दू उगाया है, जो देखने में कि‍सी छोटी कार जैसा मालूम पड़ता है। 

बैग्‍स को उम्‍मीद है कि उनका ये अजूबा कद्दू उन्‍हे वर्ल्‍ड रि‍कॉर्ड में भी जगह दि‍ला सकता है। लेकि‍न ये कद्दू यूं ही पैदा नहीं हो गया। बैग्‍स ने छह महीने की कड़ी मेहनत के बाद इसे पैदा किया।

शर्मनाक! भर्ती करने से इनकार, लॉन में जन्मा बच्चा

बैग्‍स को उम्‍मीद है कि उनका ये कद्दू कि‍सी छोटी स्‍मार्टकार जैसा ही है, जो लंदन के अब तक के सबसे बड़े कद्दू होने का रि‍कॉर्ड बना सकता है।

कद्दू के वजन का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि इसे हि‍लाने-डुलाने के लि‍ए छोटे ट्रक की जरूरत पड़ती है।

आपने आज तक नहीं देखी होगी सांपों की ऐसी जुगलबंदी

बैग्‍स बताते हैं कि इस कद्दू के इतना वजनी होने के पीछे जो सबसे खास वजह है। वो ये कि इसे जैव बीजों से उगाया गया है। 

वैसे बैग्‍स के लि‍ए ये कोई नई बात नहीं है। वो साल 2005 से ही इस तरह की चीजें उगा रहे हैं।

Oct 12, 2013

चुनाव नहीं लड़ पाएंगे राष्ट्रवादी' नरेंद्र मोदी!

भाजपा के पीएम पद के दावेदार नरेंद्र मोदी ने बयान दिया था कि वह 'हिंदू राष्ट्रवादी' हैं। इस टिप्पणी पर काफी विवाद पैदा हो गया था।

लेकिन जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय का कहना है कि जो भी व्यक्ति किसी तरह के धार्मिक राष्ट्रवाद से जुड़े होने का दावा करता है, उसके चुनाव लड़ने पर रोक लगा देनी चाहिए।

न्यायमूर्ति मुजफ्फर हुसैन अतर ने कहा, "हमारी संवैधानिक व्यवस्‍था के मुताबिक भारतीय, केवल भारतीय होता है। कोई भी व्यक्ति हिंदू राष्ट्रवादी, मुस्लिम राष्ट्रवादी, सिख राष्ट्रवादी, बौद्ध राष्ट्रवादी या ईसाई राष्ट्रवादी नहीं हो सकता।"

हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को निर्देश दिए हैं कि धार्मिक राष्ट्रवाद फैलाकर चुनाव में जनता का जनादेश हासिल करने का प्रयास करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

ताकि देश के संविधान को आघात पहुंचाने से बचाया जा सके। अदालत ने कहा कि हमारे संवैधानिक दर्शन में एक ही ‘वाद’ है और वह है ‘भारतीयता वाद।’ अन्य सभी वाद भारतीयता वाद के दुश्मन हैं।

धार्मिक स्थलों की सुरक्षा की मांग को लेकर कश्मीरी पंडितों की ओर से दायर एक याचिका की सुनवाई करते हुए जस्टिस अतर ने कहा कि भारत का संविधान हमें धर्म और आस्था जैसे दावे के अधिकार की गारंटी देता है।

उन्होंने कहा कि इसलिए भारत के संविधान की प्रस्तावना की अभिव्यक्ति में ‘धर्मनिरपेक्षता’ लाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

जस्टिस ने कहा, "यह अभिव्यक्ति देश की आबादी के एक बड़े वर्ग की तीखी प्रतिक्रिया के रूप में उभरती है और देश के लोगों को अलग-अलग वाद में बांटती है। हमारा राष्ट्र हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई या बौद्ध भारत नहीं है। लाखों लोगों के संघर्ष और कुर्बानियों से भारत देश पैदा हुआ है।"

अदालत ने केंद्र सरकार और संवैधानिक अधिकारियों को निर्देश दिया कि देश के संविधान को ठेस पहुंचाने का प्रयास करने वाले किसी भी शख्स को न सिर्फ रोका जाए, बल्कि उसके खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई की जाए।

Oct 11, 2013

बाइक और चेन झपटने वाले दो पकड़े 

रोहतक। अपराध जांच शाखा की विशेष टीम ने शहर में चेन तोड़ने की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह के दोनों सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से काफी सामान बरामद किया है। आरोपियों के कब्जे से तीन मोटरसाइकिल व छह सोने की चेन बरामद की गई है। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। एसपी राजेश दुग्गल ने बताया कि अपराध जांच शाखा के प्रभारी संदीप धनखड़ के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की थी। टीम ने गांव हरबल गढ़ी निवासी वीर सिंह उर्फ टींकू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ के दौरान वीर सिंह ने बताया कि वह अपने साथी रामनगर बस्ती निवासी संदीप उर्फ छोटन के साथ शहर में चेन तोड़ने व मोटरसाइकिल चोरी करने की वारदातों को अंजाम देते थे। देर रात पुलिस ने संदीप को भी सिविल लाइन क्षेत्र से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

यह कैसी सेना? आपस में भिड़े जवान और अफसर 

सैनिकों के बीच आपसी झगड़े की खबर कम ही सामने आती हैं, लेकिन सैन्य इकाई में सैनिकों और अधिकारियों के बीच झड़प की एक और घटना से पर्दा उठा है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में 10 सिख लाइट इनफैंट्री बटालियन में बीती रात लड़ाई हो गई, जिसमें तीन लोग जख्मी हुए। इनमें से एक लेफ्टिनेंट कर्नल है, जो सेकेंड इन कमांड था।

अभी तक यह साफ नहीं हुआ कि लड़ाई की वजह क्या थी और यह कितनी बड़ी थी, लेकिन सूत्रों का कहना है कि झगड़ा कल हुआ और कई लोगों को इलाज की जरूरत पड़ी। इनमें से कुछ अस्पताल में भी भर्ती कराए गए हैं।

हालिया वर्षों में इस तरह की यह चौथी घटना है। पिछले दो साल में दो आर्टिलरी इकाई औरा दो आर्मर्ड यूनिट में इसी तरह क झगड़ा हो चुका है।

हालांकि, यह पहली बार है कि किसी इनफैंट्री यूनिट में जवानों और अधिकारियों के बीच इस तरह का लड़ाई-झगड़ा हुआ हो।

सैन्य सूत्रों ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि इससे जुड़ा बयान जल्द ही जारी कर दिया जाएगा। सेना ने इस मामले के आदेश भी दिए हैं।

Oct 10, 2013

एक दिमाग, दो सिर, चार आंख, दो नाक, कौन है ये?

एक दिमाग, दो नाक और चार आंखें। सुनने में ये कोई अजीबोगरीब जानवर मालूम पड़ रहा होगा लेकिन ये कोई अजीबोगरीब जानवर नहीं बल्कि एक ब‌छिया है।

डेली मेल की खबर के अनुसार, वर्मोंट के एक फार्म में जन्मी ये बछिया दो सिर वाला है। दिलचस्प बात ये है कि जहां अमूमन दो सिर वाले या किसी भी विकृति के साथ जन्मे बच्चे कुछ ही घंटे बाद मर जाते हैं, ये बछिया जिंदा है और स्वस्‍थ है।

पशु विशेषज्ञों का मानना है कि दरअसल ये दो बच्चे रहे होंगे लेकिन गर्भाशय में अंडे सही से अलग नहीं हो पाए और ये बछिया दो सिर के साथ पैदा हो गई

हालांकि फार्म के मालिक ‌किस्टेन क्वेसनेल ने अभी तक इसका कोई नाम नहीं रखा है लेकिन वो इस अनोखी बछिया के पैदा होने से काफी खुश हैं।

क्वेसनेल बताते हैं कि इस बछिया का सिर एक ही है। ऐसे में एक मुंह से अगर उसे दूध पिलाया जाता है तो दूसरा मुंह भी वैसी ही हरकत करता है। ये बछिया दोनो मुंह से खने में सक्षम है।

इससे पहले इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड में एक किसान के घर  आठ पैर, चार आंख, दो शरीर और एक सिर वाला बछड़ा पैदा हुआ था।
जॉर्जिया में साल 2011 में दो सिर वाला बछड़ा पैदा हुआ था।

Aug 19, 2013

लालच में पड़ी महिला, पड़ोसी ने दोस्तों संग किया गैंगरेप property investment


एक युवक ने पड़ोस की रहनी वाली महिला को धन दोगुना करने वाले बाबा के बारे में बताया। महिला लालच में उसके साथ चल दी।property investment

लेकिन उसे इस बात की जरा भनक न थी कि जिस शख्स पर वह इतना भरोसा कर रही है, उसने एक साजिश रची है।

युवक ने महिला को अगवाकर चार दिनों तक बंधक बनाए रखा। अपने तीन साथियों के साथ उसने महिला से रेप किया और चार लाख रुपए के उसके जेवर ले लिए। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। घटना बुलंदशहर की है।property investment

नगर की एक कॉलोनी में रहने वाली पीड़ित महिला एक दुकान चलाती है। उसी के पड़ोस में लोकेश नाम का एक युवक टेलरिंग का काम करता है। online payday loans, payday loans online,
property investment
आरोप है कि एक माह पहले लोकेश ने उसे बताया कि स्याना के पास एक साधु जादू से धन दोगुना कर देता है। महिला को दुकान के लिए रुपयों की जरूरत थी।property investment

वह लालच में आ गई और उसने इस संबंध में पति से पूछने के लिए कहा, लेकिन लोकेश ने ऐसा करने पर जादू का असर न होने की बात कही। online payday loans, payday loans online,

लोकेश महिला को स्याना के एक मकान में ले गया। वहां उसके तीन साथी महेंद्र, लक्ष्मी और सूरज भी थे। चारों ने तमंचे के बल पर महिला से चार दिन तक गैंगरेप किया। 13 तोले सोने, 700 ग्राम चांदी के आभूषण और 3,200 रुपए ले लिए। उसके बाद महिला को वहां से धमकी देकर भगा दिया।

Share 0online payday loans, payday loans online,

पेन लाना भूला तो टीचर ने मंगवाई भीख property investment

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में एक हैरत में डालने वाली घटना सामने आई है। यहां स्कूल में 8वीं कक्षा के एक बच्चे के पास पेन न होने पर टीचर ने उससे सजा के तौर पर क्लास में भीख मंगवाई।
property investment
13 साल के स्टूडेंट को नोट्स न बनाते देख टीचर ने उसे मिड डे मील का बर्तन दिया और कहा कि इसे लेकर जाओ और सारे बच्चों से भीख मांगो। बच्चे से यह भी कहा गया कि जो पैसे मिलें उससे एक पेन खरीदो।

property investment
इस घटना से सहमे हुए बच्चे ने परिवार वालों को यह बात बताई जिन्होंने तुरंत जिला शिक्षा विभाग में टीचर के खिलाफ शिकायत दर्ज की। शिकायत के बाद टीचर को सस्पेंड कर दिया गया है।

property investment
देश में आज भी ग्रामीण इलाकों में इस तरह की घटनाएं अक्सर सामने आती रहती हैं। यहां स्कूलों में टीचर्स को मानवाधिकार मानकों के बारे में कोई जानकारी भी नहीं होती है।
online payday loans, payday loans online
मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि इस तरह कि घटनाओं के बाद बच्चों पर गलत असर पड़ सकता है और उनमें आपराधिक सोच भी पनप सकती है।

ऐसे मामले में बच्चे से भीख मंगवाने के बजाए टीचर उसे या तो अपना पेन दे सकता था कि कुछ देर के लिए किसी दूसरे बच्चे का पेन दिलवाया जा सकता था।online payday loans, payday loans online